" /> कोरोना मरीज ने अस्पताल में लगाई फांसी : तीन घंटे तक झुलती रही लाश!

कोरोना मरीज ने अस्पताल में लगाई फांसी : तीन घंटे तक झुलती रही लाश!

कांदिवली-पूर्व के केंद्रीय राज्य कामगार बीमा अस्पताल में कल सुबह उस वक्त हड़कंप मच गया, जब सीढ़ियों के गैप में एक बुजुर्ग महिला को फांसी पर लटके देखा गया। इस घटना को देखे जाने के तीन घंटे बाद तक फांसी के फंदे से झुलती रही। उक्त महिला को कोरोना के इलाज के लिए परेल से यहां लाया गया था। इस घटना की पुष्टि समता नगर पुलिस स्टेशन द्वारा की गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 64 वर्षीय परेल में रहनेवाली महिला को कोरोना हुआ था। उसके परिजनों द्वारा मनपा की हेल्पलाइन पर संपर्क किए जाने के बाद उसे राज्य बीमा निगम कामगार अस्पताल (ईएसआईसी) की छठी मंजिल पर मनपा द्वारा संचालित कोरोना वॉर्ड में 14 मई को इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। कल सुबह 9 बजे के करीब एक महिला सफाईकर्मी सीढ़ियों से नीचे जा रही थी, तभी उसने महिला मरीज की लाश को देखा। महिला मरीज लाश सीढ़ी के बगल में बने रेलिंग में लटकी हुई मिली। उसने अपनी साड़ी से फांसी का फंदा बनाकर खुदकुशी कर ली थी। मनपा आर-दक्षिण विभाग के सहायक आयुक्त संजय कुरहाडे ने बताया कि अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक उक्त महिला हाइपोथायरायडिज्म सहित अवसाद से भी ग्रसित थी। उसके द्वारा फांसी लगाए जाने के पीछे फिलहाल इसे ही कारण माना जा रहा है। कुरहाडे ने यह भी बताया कि महिला के परिजनों को इस घटना से अवगत करा दिया गया है। अगर वे आते हैं तो पूरी प्रक्रिया के बाद लाश उन्हें सौंप दी जाएगी। अन्यथा समता नगर पुलिस स्टेशन से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेकर मनपा लाश की अंतिम क्रिया करेगी। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजू कसबे ने बताया कि पंचनामा आदि करने के बाद मनपा को उक्त महिला की लाश सौंप दी गई है। समता नगर पुलिस आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज कर आगे की जांच कर रही है।