" /> ‘कोरोना वॉरियर्स’ के रूप में ‘सैनिक सिक्युरिटी. का अहम योगदान

‘कोरोना वॉरियर्स’ के रूप में ‘सैनिक सिक्युरिटी. का अहम योगदान

पूरे विश्व के साथ-साथ भारत देश में भी कोरोना नामक वायरस की दहशत छाई हुई है, जिससे नागरिकों को अपनी जान मुट्ठी में लेकर घरों में रहने की नौबत आ गई है। ऐसी विकट परिस्थितियों में मीरा-भाइंदर महानगरपालिका व ठाणे ग्रामीण पुलिस प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सैनिक सिक्युरिटी के कर्मचारी भी कोरोना वॉरियर्स (योद्धा) के रूप में अपना अहम योगदान दे रहे हैं, जिसकी सर्वत्र प्रशंसा की जा रही है।
मीरा-भाइंदर शहर में सुव्यवस्था बनाए रखने के लिए मनपा इमारत, होटल, अतिक्रमण विभाग के अलावा ट्रैफिक व्यवस्था, क्वारंटाइन सेंटर, सब्जी मंडी, मनपा के पंडित भीमसेन जोशी अस्पताल, मीरा रोड के स्व. इंदिरा गांधी अस्पताल आदि में सैनिक सिक्युरिटी के करीब २९० कर्मचारी अपनी सेवा दे रहे हैं।
इस विकट परिस्थितियों में भी अति आवश्यक सेवा से जुड़ी सामग्री खरीदने के लिए लोग बाहर निकलते हैं। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग और स्वास्थ्य विभाग तथा केंद्र व राज्य सरकार द्वारा निर्देशित नियमों का पालन करने का ध्यान रखने व व्यवस्था के लिए सैनिक सिक्युरिटी के कर्मचारी जगह-जगह मुस्तैद होकर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे हैं। साथ ही अपने स्वयं की सुरक्षा के लिए मास्क, सेनेटाइजर, हाथ के दस्ताने का भी लगातार प्रयोग कर रहे हैं।
सैनिक सिक्युरिटी कंपनी के मालिक डॉ. नाना गुरु भी अपने कर्मचारियों के साथ खुद मैदान में उतरकर उनको प्रोत्साहन दे रहे हैं। इस कंपनी की तरफ से शहर की सड़कों पर कानून व्यवस्था के लिए तैनात करीब ५०० पुलिसकर्मियों को उत्तम दर्जे का नाश्ता और भोजन की व्यवस्था की गई है। कर्मचारियों के परिजनों को भी कोरोना मुक्त रखने के लिए उचित योगदान दिया जा रहा है। गुरु नाना ने लोगों से अपील की कि हम सुरक्षित हैं तो देश सुरक्षित है इसलिए हम सब मिलकर कोरोना वायरस की लड़ाई में सहभागी बनें, जिससे कोरोना हारेगा तो देश जीतेगा।