" /> कोरोना ३०० क्रॉस : देशभर में पीड़ितों की संख्या

कोरोना ३०० क्रॉस : देशभर में पीड़ितों की संख्या

देश में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। पिछले २४ घंटे में कोरोना के ७० के करीब नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं और इनकी संख्या ३०० क्रॉस कर चुकी है। खबर लिखे जाने तक देश भर में मरीजों की संख्या ३२५ हो गई है। सबसे बुरा हाल महाराष्ट्र का है, जहां अभी तक ६३ मामले सामने आए हैं, जिसमें से एक की मौत हो चुकी है। कोरोना से देश के २२ राज्य प्रभावित हैं। देश की दो ट्रेनों में कोरोना के मरीज सफर करते पाए गए हैं। इस खबर से दहशत बढ़ गई है क्योंकि इससे संक्रमण के तेजी से पैâलने की आशंका है। मुंबई से गांव जानेवाली भीड़ रेलवे स्टेशनों पर जमा है और यह खतरे को बढ़ानेवाला है। लोग बोगी में भेड़-बकरियों की तरह ठूंसकर जा रहे हैं। कई ट्रेनों के वैंâसिल हो जाने से भीड़ काफी ज्यादा बढ़ गई है।

राज्य में १२ नए कोरोना के मरीज
कुल रोगियों की संख्या हुई ६४
कोरोना के राज्य में कुल १२ नए रोगी मिले हैं। इस प्रकार राज्य में कुल कोरोना रोगियों की संख्या ६४ हो गई है।
१२ नए रोगियों में मुंबई में ८, पुणे में २, यवतमाल में १ और कल्याण में १ रोगी है। इस दरम्यान इंडियन कौंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) प्रयोगशाला ने परीक्षण के मानदंडों में बदलाव किया है, यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कल दी।    मुंबई में पाए जानेवाले ८ रोगियों में से ६ का विदेश यात्रा का इतिहास है। एक हवाई अड्डा कर्मचारी है और दूसरा गुजरात की यात्रा कर चुका है। यवतमाल का एक मरीज लेकिन मुंबई में भर्ती है और वह कांगो देश की यात्रा कर चुका है।  कल्याण में एक कोरोना संक्रमित मरीज उल्हासनगर की एक युवती का भाई है, जो दो दिन पहले संक्रमित हुई थी और वह दुबई से आई है। वह कल्याण से अपनी बहन के साथ दुबई गया था। पुणे के एक २५ वर्षीय संक्रमित युवक ने इंग्लैंड और आयरलैंड की यात्रा की है। इस बीच पुणे की महिला जिसका विदेश में जाने का कोई इतिहास नहीं है, वह संक्रमित पाई गई है।

मरीजों का विवरण-
पिंपरी-चिंचवड़-१२, पुणे- ११, मुंबई-१९, नागपुर-४, यवतमाल-४, कल्याण-४, नई मुंबई में ३, नगर में २, पनवेल में १, ठाणे में १, उल्हासनगर में १, संभाजीनगर में १,  रत्नागिरी में १ इस प्रकार कुल ६४ मरीज कोरोना ग्रसित हैं। अब तक मुंबई में एक व्यक्ति की कोरोना के कारण मौत हुई है।  हेल्पलाइन को शिकायतें मिल रही हैं कि कई लोगों ने कोरोना बीमारी होने के डर से अपने पालतू जानवरों को छोड़ना शुरू कर दिया है। किसी कोरोनाग्रस्त के पालतू जानवरों से संक्रमित होने के कोई उदाहरण नहीं हैं, इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से अपने पालतू जानवरों को डर से नहीं छोड़ने का आग्रह किया है।