" /> कोविड केयर अस्पताल बनाओ, अन्यथा करेंगे आंदोलन, विधायक प्रताप सरनाईक की मीरा-भाइंदर मनपा को चेतावनी

कोविड केयर अस्पताल बनाओ, अन्यथा करेंगे आंदोलन, विधायक प्रताप सरनाईक की मीरा-भाइंदर मनपा को चेतावनी

मीरा-भाइंदर महानगरपालिका क्षेत्र में जहां एक ओर कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने की संख्या दिलासा देती है, तो वहीं दूसरी ओर कोरोना की लड़ाई में मनपा प्रशासन कमजोर पड़ता दिखाई दे रहा है, जिससे कोरोना मरीजों की संख्या दिनों-दिन बढ़ रही है। सोमवार १३ जुलाई तक मनपा प्रशासन ने १ हजार बेड के कोरोना केयर कोविड अस्पताल के बारे में निणर्‍य नहीं लिया तो आयुक्त के दालान में आंदोलन करने की चेतावनी शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने दी है।
मीरा-भाइंदर मनपा का एकमात्र पंडित भीमसेन जोशी (टेंबा) अस्पताल है, जहां कोरोना मरीजों का इलाज किया जाता है। वहां भी मरीजों को पूर्ण सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो रही हैं। साथ ही वहां आवश्यकतानुसार बेड भी उपलब्ध नहीं रहता है। मनपा द्वारा शुरू किए गए ‘क्वारंटाइन सेंटर’ में भी भारी अव्यवस्था की शिकायतें आ रही हैं। वहां की अस्वच्छता, समय पर नाश्ता-पानी, स्वस्थ दर्जे का भोजन न मिलना, समय पर मरीजों की जांच न किया जाना, कई-कई दिनों तक स्वैब रिपोर्ट नहीं आने जैसी शिकायतें आम हो गई हैं। इसके बावजूद मनपा में सत्ताधारी भाजपा व प्रशासन ने कोई सुसज्ज यंत्रणा निर्मित करने पर विगत ३ माह के कोरोना काल में कोई ध्यान नहीं दिया, जिससे मजबूरन लोगों को निजी अस्पतालों में उपचार के लिए जाना पड़ रहा है। जहां पर उनसे उपचार के नाम पर लाखों रुपए की लूट की जा रही है। कहीं इन निजी अस्पतालों से मनपा अधिकारियों की आर्थिक सांठगांठ तो नहीं, ऐसा आरोप भी सरनाईक ने लगाया है।
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आदेश के बाद भी मनपा प्रशासन जानबूझकर कोविड केयर सेंटर के निर्माण में आनाकानी कर रहा है। जबकि मुख्यमंत्री ने यह स्पष्ट आदेश दिया था कि बेड खाली रहेंगे तो चलेगा, लेकिन बेड नहीं मिलने से किसी कोरोना मरीज का इलाज नहीं हुआ, ऐसा नहीं होना चाहिए। सरनाईक ने चेतावनी दी है कि सोमवार तक कोविड सेंटर के निर्माण की निविदा प्रक्रिया नहीं पूर्ण की गई तो वे १४ जुलाई मंगलवार को मनपा आयुक्त डॉ. विजय राठौड़ के दालान में आंदोलन करेंगे। इससे कोई अनुचित परिस्थिति पैदा हुई तो इसकी संपूर्ण जिम्मेदारी मनपा आयुक्त की होगी।