" /> कोविड संदर्भ में राज्य ५ लाख ९४ हजार व्यक्ति क्वारंटाइन

कोविड संदर्भ में राज्य ५ लाख ९४ हजार व्यक्ति क्वारंटाइन

१ लाख २४ हजार मामले दर्ज
६ करोड़ ८६ लाख की दंड वसूली -गृहमंत्री अनिल देशमुख

लॉकडाउन की शुरुआत के बाद से राज्य में आवश्यक सेवाओं के लिए पुलिस विभाग द्वारा 4 लाख 66 हजार 937 पास जारी किए गए हैं। साथ ही 5 लाख 94 हजार 543 व्यक्तियों को आइसोलेट किया गया है। यह जानकारी गृह मंत्री अनिल देशमुख ने दी।
राज्य में 22 मार्च से 9 जून तक धारा 188 के तहत कुल 1,24,369 मामले दर्ज किए गए हैं और 23,986 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। विभिन्न अपराधों के लिए 6 करोड़ 86 लाख 74 हजार 691 रुपए का जुर्माना वसूला गया है।

कड़ी कार्रवाई
कोरोना का मुकाबला करने के लिए पुलिस बल, स्वास्थ्य विभाग, डॉक्टर, नर्स दिन-रात काम कर रहे हैं। लेकिन कुछ असामाजिक प्रवृत्ति के लोग उन पर हमला कर रहे हैं। पुलिस विभाग को ऐसे हमलावरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिया गया है।
इस दौरान पुलिस पर हमले की 263 घटनाएं हुईं। 846 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है, ऐसा देशमुख ने बताया। लॉकडाउन के दौरान पुलिस विभाग के 100 नंबर पर 1,01,097 कॉल आईं, जिनमें से सभी पर विधिवत कार्यवाही की गई। इस अवधि के दौरान 1,332 वाहनों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए गए और 80,890 वाहनों को जप्त किया गया।

1,459 पुलिसवाले कोरोना से संक्रमित
देशमुख ने बताया कि राज्य में 1,459 पुलिसवाले कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इनमें 190 पुलिस अधिकारी और 1,269 पुलिसकर्मी का समावेश है। उनका इलाज राज्य के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। कोरोना का मुकाबला करते हुए दुर्भाग्य से 34 पुलिस जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। पुलिस को कोरोना से संबंधित कोई भी लक्षण दिखाई देने पर तत्काल कार्रवाई करने के लिए पूरे राज्य में नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। वर्तमान में राज्य में कुल 274 राहत शिविर बनाए गए हैं। वहां लगभग 12,664 लोगों के रहने का प्रबंध किया गया है। कोरोना के कारण 5 लाख 94 हजार 543 व्यक्तियों को क्वारंटाइन किया गया है। लॉकडाउन की अवधि में राज्य में आवश्यक सेवाओं के लिए पुलिस विभाग ने 4 लाख 66 हजार 937 पास जारी किए हैं।