" /> कोविड से संदिग्ध मरीजों को भर्ती करने से इंकार : निजी अस्पतालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

कोविड से संदिग्ध मरीजों को भर्ती करने से इंकार : निजी अस्पतालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

मनपा आयुक्त विजय सिंघल ने अपनाया कड़ा रुख

शहर में स्थित नॉन कोविड निजी अस्पतालों में कोविड से संदिग्ध मरीजों का उपचार करने से इंकार करनेवाले अस्पतालों पर नियम के तहत कड़ी कार्रवाई के साथ ही अस्पताल के संचालक के विरुद्ध पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किए जाने की चेतावनी मनपा आयुक्त विजय सिंघल दी है। उन्होंने कहा कि कोई भी अस्पताल में मरीज के उपचार के लिए उसे भर्ती करने से इंकार नहीं कर सकता है, यह राज्य सरकार का निर्देश है। राज्य सरकार के आदेशानुसार शहर के नॉन कोविड अस्पताल में कोविड से संदिग्ध हालात में पहुंचने पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू कर उसके स्वास्थ्य के अनुसार उपचार शुरू कर आवश्यकतानुसार मरीज को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया जाए। मरीज की स्थिति में सुधार आने पर जरूरत पड़ने पर उसके कोरोना की जांच मान्यता प्राप्त लैब में की जाए और रिपोर्ट निगेटिव आने पर मरीज का उपचार उसी अस्पताल में किया जाना चाहिए। यदि मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उपचार के लिए उसे कोविड अस्पताल में भर्ती करवाएं। इसके अलावा कोविड से संदिग्ध मरीज यदि नॉन कोविड अस्पताल में आने के बाद पहले ट्रायेज वार्ड में भर्ती कर पीपीई किट व अन्य सुरक्षा के साथ उपचार करने की बात पर सिंघल ने कहा कि मरीज के साथ किसी भी तरह की अस्पताल की ओर से लापरवाही बरती जाती है और मरीज की मृत्यु हो जाती है तो अस्पताल व संचालक के विरुद्ध मामला दर्ज किया जाएगा, ऐसी चेतावनी मनपा आयुक्त ने दी।