" /> कोस्टल रोड वर्क इन प्रोग्रेस, १० फीसदी हुआ काम

कोस्टल रोड वर्क इन प्रोग्रेस, १० फीसदी हुआ काम

मुंबई की रफ्तार को और बढ़ाने के लिए कोस्टल रोड का निर्माण किया जा रहा है। कोरोना के चलते केवल ४०० मजदूरों के माध्यम से शुरू इस कोस्टल रोड के निर्माण कार्य ने एक हजार मजदूर आने के बाद और गति पकड़ ली है। अब तक कोस्टल रोड का १० फीसदी निर्माण कार्य पूरा हो गया है। कोस्टल रोड को तय समय में पूरा करने की तैयारी में मनपा जुटी हुई है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की संकल्पना से कोस्टल रोड का निर्माण किया जा रहा है। २९ किमी लंबे इस कोस्टल रोड का निर्माण कार्य चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा। पहले चरण का निर्माण कार्य प्रिंसेस स्ट्रीट से वरली सी-लिंक तक शुरू है। इस लॉकडाउन में सभी सावधानियां बरतते हुए निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है।
पाइलिंग का काम शुरू
प्रियदर्शिनी पार्क, गिरगांव चौपाटी, लवग्रोव इन तीन जगहों पर पायलिंग का काम शुरू है, जिसे जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। इसके अलावा हाजीअली के पास समुद्र में भरनी का काम भी तेजी से हो रहा है। कोस्टल रोड परियोजना के मुख्य अभियंता विजय निघोट ने बताया कि अब तक कोस्टल रोड का काम १० फीसदी पूरा हो गया है।
दिन-रात सामानों की आवाजाही
कोस्टल रोड कार्य हेतु लगनेवाले सामानों की आवाजाही के लिए डंपरों, ट्रकों को दिन-रात अनुमति दी गई है। करीब १५०० डंपरों की आवाजाही रोजाना कार्य स्थल पर हो रही है। पहले इन डंपरों की आवाजाही रात ११ से सुबह ५ बजे तक होती थी लेकिन लॉकडाउन के चलते अन्य वाहनों की आवाजाही न होने के कारण ट्रैफिक पुलिस ने कोस्टल रोड निर्माण कार्य के लिए डंपरों, ट्रकों को दिन-रात आवाजाही की अनुमति दी है।
दिसंबर से खोदी जाएगी सुरंग
पहले चरण में प्रिंसेस स्ट्रीट से लेकर वरली सी-लिंक तक ९.९८ किमी का कोस्टल रोड बनाया जा रहा है, जिसमें ३.४५ किमी लंबी सुरंग होगी। इस सुरंग की खुदाई के लिए सबसे बड़ी टीबीएम मशीन चीन से आयात की गई है। पुर्जे-पुर्जे में आई इस मशीन को एसेंबल करने का काम अगले महीने शुरू हो जाएगा। नवंबर तक यह कार्य पूरा होगा और दिसंबर से सुरंग की खुदाई शुरू की जाएगी।
ईंधन की होगी बचत
पहले चरण में बननेवाले ९.९८ किमी का कोस्टल रोड टोल फ्री होगा। इसके साथ ही वाहनचालक जहां ट्रैफिक से निजात पाएंगे, वहीं अपनी वाहनों का र्इंधन भी बचा सकेंगे। कोस्टल रोड बनने के बाद इस पर सफर करनेवाले वाहनचालक प्रति वर्ष ३४ फीसदी र्इंधन की बचत कर पाएंगे।