क्या यह किसी तोहफे से कम है?

अभिनेत्री तापसी पन्नू इन दिनों बहुत बिजी हैं। तापसी की छोटे अंतराल में ही कई फिल्में रिलीज होनी हैं, जिसमें ‘सुरमा’ प्रमुख है। इसके बाद ‘मुल्क’ में तापसी, ऋषि कपूर के साथ मुख्य भूमिका में नजर आएंगी। इसके बाद अभिषेक बच्चन-विकी कौशल के साथ फिल्म `मनमर्जियां’ और नाना पाटेकर-अली फजल के साथ `तड़का’ रिलीज होगी। फिल्म `बदला’ भी इसी वर्ष के अंत तक रिलीज होगी।
स्कॉॅटलैंड में शूट कर रही तापसी ने फोन पर पूजा सामंत से बात की।  पेश हैं बातचीत के मुख्य अंश-
फिल्म ‘बदला’ के बारे में बताइए?
`बदला’ के निर्देशक हैं सुजॉय घोष। सुजॉयदा की खासियत आप जानती हैं कि वे अपनी कहानियों में थ्रिलर एलिमेंट जरूर रखते हैं। स्कॉटलैंड ब्रिटिश पुलिस (जिन्हे बॉब कहा जाता है) का हेडक्वार्टर है। यानी पूरी कहानी के साथ स्कॉटलैंड-ग्लास्गो के इस माहौल में भी थ्रिलिंग अहसास होने लगा है। यह सस्पेंस है लिहाजा इसके बारे में ज्यादा कुछ कहना मुनासिब नहीं होगा। हां, यह मर्डर मिस्ट्री है। मेरा किरदार बिजनेस वुमन का है।
अमिताभ बच्चन के साथ आपकी दूसरी फिल्म है। क्या सीखा आपने उनसे?
मेरे करियर की पहली बड़ी हिट फिल्म `पिंक’ थी, जिसमें नायक अमिताभ बच्चन थे। फिल्म में जिन ३ लड़कियों के साथ हादसा होता है, उनमें मैं एक थी। मैं खुद को बहुत खुशनसीब मानती हूं जो मुझे मेरे करियर में दूसरी बार महानायक के साथ फिल्म करने का जल्दी मौका मिला। अमिताभ बच्चन के सामने कोई ५ मिनट भी हो तो वो अगर महानायक से कुछ न सीखे ऐसा हो नहीं सकता। मैंने `पिंक’ के बाद `बदला’ की है। उनसे जितना सीखे उतना ही कम होगा। अभिनय में वे इंस्टीटूट हैं। उनसे अनुशासन, लिहाज, भाषा, स्टाइल, धैर्य, मॉरल वैल्यूज, क्या नहीं सीखे कोई? सर (अमिताभ) तो हर लिहाज से लीजेंड हैं। मुझे अचंभित किया उनके एनर्जी लेवल ने।
‘सुरमा’ में किस तरह से आपका चुनाव हुआ?
`सुरमा’ का निर्माण अभिनेत्री चित्रांगदा सिंह, और सोनी फिल्म्स ने मिलकर किया है। हॉकी प्लेयर कैप्टन संदीप सिंह की बायोपिक है `सुरमा ‘ फिल्म को रियल टच मिलने के लिए उन्होंने गायक -अभिनेता दिलजीत दोसांझ को संदीप सिंह के किरदार के लिए साइन किया और उनकी प्रेमिका हरप्रीत के किरदार में मुझे लिया गया। चूंकि मैं भी सिख हूं और स्पोट्र्सवुमन रह चुकी हूं। इसलिए उनकी टीम ने मेरा सिलेक्शन किया।
‘मुल्क’ आपकी फिल्म रिलीज पर है। इसके लिए कितना होमवर्क करना पड़ा?
`मुल्क’ की काफी शूटिंग निर्देशक अनुभव सिन्हा ने वाराणसी में की। यह एक दिलचस्प कोर्ट रूम ड्रामा है। मेरा किरदार एडवोकेट का है जिसका  नाम है आरती मोहम्मद। ऋषि कपूर हैं मुराद मोहमद अली। मैं अपने बहनोई (प्रतीक बब्बर) का केस ल़ड़ती हूं। महिला एडवोकेट हो या पुरुष एडवोकेट, वकील को अपना केस कनविक्शन के साथ लड़ना पड़ता है।
आपने हाल ही में शॉर्ट फिल्म  की, कोई खास कारण?
शॉर्ट फिल्म का नाम है नीतिशास्त्र। विकी अरोरा -ऐश्वर्या सोनार मेरे सह कलाकार हैं। कपिल वर्मा ने इस विषय को जब मेरे सामने नरेट किया तो  मुझे विषय अच्छा लगा। प्रोजेक्ट शॉर्ट हो या लांग विषय मायने रखता है।
अपनी जर्नी को कैसे देखती हैं आप?
शायद मुझसे ज्यादा कोई और खुश नहीं हो सकता। मैं दिल्ली से हूं। कभी सोचा नहीं था कि विज्ञापन फिल्में करते-करते फिल्म करूंगी और आगे चलकर यह कारवां बढ़ता ही जाएगा। देखते-देखते मेरे अभिनय सफर को ४-५ वर्ष हो चुके हैं। बिना गॉडफादर, बिना मेंटॉर अगर सफर बढ़ता ही जाए तो यह बेहद ख़ुशी की बात है।
आपकी बहन शगुन के भी फिल्मों में डेब्यू करने की चर्चा हो रही है?
 मैंने अपनी बहन शगुन के साथ मिल कर ४ वर्ष पहले वेडिंग प्लानर का बिजनेस शुरू किया था। अभिनय के कारण मेरा ट्रैक बदल गया लेकिन शगुन ने इसे आगे भी जारी रखा। अच्छा काम चल रहा है शगुन का और फिल्मों में आने का उसका कोई इरादा नहीं है।