" /> क्यूरे अस्पताल कोरोना कोविड-19 के मरीजों के लिए घोषित : ठाणे में हुई 650 बेड की कैपिसिटी

क्यूरे अस्पताल कोरोना कोविड-19 के मरीजों के लिए घोषित : ठाणे में हुई 650 बेड की कैपिसिटी

ठाणे महानगरपालिका क्षेत्र में कोरोना (कोविड-19) का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसे रोकने के लिए मनपा प्रशासन विविध प्रकार की उपाय योजना करने में जुटी हुई है। घोडबंदर रोड स्थित क्यूरे अस्पताल को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए उपलब्ध करवाने का निर्णय मनपा आयुक्त विजय सिंघल ने लिया है। इस अस्पताल के शामिल होने के से 650 बेडों की व्यवस्था कोरोना से ग्रसित मरीजों के लिए उपलब्ध हो चुकी है।
राज्य में इस महामारी का संक्रमण रोजाना बढ़ता ही जा रहा है और नागरिकों को प्रशासन की ओर से इससे बचाव के लिए दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं। संदिग्ध लोगों के लिए आयसोलेट, उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाना और मरीजों की जांच के साथ ही शासन की ओर से सही मार्गदर्शन दिया जा रहा है। इसके साथ ही कोविड-19 से ग्रसित मरीजों के उपचार के लिए जिला सरकारी अस्पताल में 250 बेड, कौशल्या अस्पताल में 60 बेड, होराइजन प्राईम अस्पताल में 60 बेड, वेदांत अस्पताल में 100 बेड, कालसेकर अस्पताल में 100 बेड, ठाणे हेल्थ केयर अस्पताल में 53 के साथ ही अब क्यूरे अस्पताल को भी शामिल किया गया है। वहीं बेथनी अस्पताल में 34 बेड की व्यवस्था संदिग्ध मरीजों के उपचार के लिए और कलवा स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में 20 बेड की व्यवस्था कोमॅार्बिड सस्पेक्टेड आयसोलेशन वॉर्ड निर्माण किया गया है। जिला सरकारी अस्पताल में 25 बेड के साथ ही कुल 79 बेडों की व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है। कोविड असिम्टोमैटीक मरीजों की संख्या को ध्यान में रखकर 50 वर्ष से अधिक उम्रवाले मरीजों की जांच और उपचार बड़े तजुर्बेदार डॉक्टरों से करवाने की आवश्यकता है इसलिए सभी सुविधाओं से सुसज्ज क्यूरे अस्पताल में 17 सिंगल बेड, 2 डबल बेड, 1 ट्रिपल बेड कुल 20 बेड की व्यवस्था उपलब्ध है और जनरल वार्ड में 4 बेड और आईसीयू में 3 बेड की व्यवस्थावाले अस्पताल को कोरोना मरीजों के लिए घोषित किया गया है।