" />  क्राइम रोकने में  कमिश्नरी प्रणाली बेहतर है- लखनऊ पुलिस 

 क्राइम रोकने में  कमिश्नरी प्रणाली बेहतर है- लखनऊ पुलिस 

राजधानी व नोएडा में पुलिस की कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद कई बार इस व्यवस्था में हुए अपराधों के बाद इस पर अंगुली उठाई गई। उसके बाद राजधानी पुलिस ने एक आंकड़ा जारी कर दावा किया कि पुलिस की कमिश्नर प्रणाली पहले से बेहतर है, जिसके अनुसार लखनऊ में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करने के बाद अपराध में उल्लेखनीय कमी दर्ज की गई है। आंकड़े में लखनऊ पुलिस ने पिछले छह महीनों का रिपोर्ट कार्ड पेश किया और माफिया तत्वों के खिलाफ़ प्रभावी कार्रवाई का दावा किया गया है, जिसके अनुसार 15 जनवरी से लागू कमिश्नरी प्रणाली के बाद कानून-व्यवस्था की स्थिति बेहतर हुई है। लोगों को यातायात नियमों के प्रति भी जागरूक करने में सफलता मिली है। इसके अलावा माफिया तत्वों पर नकेल कसी गई है।अपराधियों का खौफ आम जनता के बीच कम हुआ है। कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद अपराध नियंत्रण के मामले में पिछले 208 और 2019 की तुलना में इस साल 12 जुलाई तक डकैती में 75 फीसदी की कमी दर्ज की गई है, वहीं लूट में 56 प्रतिशत, हत्या में 35, बलवा में 48, वाहन चोरी में 39, घर चोरी में 56, अपहरण में 39, दहेज हत्या में सात और बलात्कार के मामलों में 34 फीसदी की कमी आई है। लखनऊ पुलिस का दावा है कि 2018 में जिले में 17, 2019 में 15 माफिया तत्वों की पहचान की गई, वहीं इस साल अब तक 45 माफियाओं को चिह्नित कर 39 पर एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। इन असामाजिक तत्वों की दो करोड़ 55 लाख रुपए की संपत्ति सीज की गई है।