" /> क्वारंटाइन लोगों पर पुलिस की नजर

क्वारंटाइन लोगों पर पुलिस की नजर

मुंबई में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए मनपा हरसंभव प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में कल मनपा आयुक्त की महत्वपूर्ण बैठक भी हुई। इस बैठक में कोरोना के नियंत्रण के लिए कई दिशा-निर्देश भी जारी किए गए, जिसमें कोरोना को लेकर क्वारंटाइन हुए लोगों की रोजाना गतिविधियों पर पुलिस के जरिए नजर रखने का पैâसला लिया गया।
बता दें कि विदेश से मुंबई आए कई नागरिकों ने एहतियात के रूप में खुद को क्वारंटाइन किया है यानी १५ दिनों तक ये लोग एक कमरे में अलग से रहेंगे। बताया जाता है कि मुंबई में ही करीब ५२८ लोगों ने खुद को क्वारंटाइन किया है। ऐसे लोगों के हाथों पर मनपा ने क्वारंटाइन का स्टैंप भी लगाया है। कल मनपा मुख्यालय में हुई महत्वपूर्ण बैठक में इन क्वारंटाइन लोगों की दैनिक गतिविधियों पर नजर रखने का पैâसला लिया गया है। इन लोगों की जानकारी स्थानीय पुलिस स्टेशनों से साझा की जाएगी। इनके मोबाइल नंबर पुलिस को दिए जाएंगे। इतना ही नहीं एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग हुए यात्रियों को उनके क्वारंटाइन संदर्भ में इस बात से भी उन्हें अवगत कराया जाएगा कि उन पर पुलिस की नजर बनी हुई है, ताकि वे नियमों का उल्लंघन न कर सकें। इसके अलावा पुलिस की मदद से हर वॉर्ड के सहायक मनपा आयुक्त अपने वॉर्ड के अधीन आनेवाले हर निजी ऑफिसों की जांच करेंगे। जांच में यह देखा जाएगा कि संबंधित ऑफिस ५० प्रतिशत कर्मचारियों के नियमों का पालन कर रहे हैं कि नहीं। कल चेंबूर एम-पश्चिम और जी/उत्तर वॉर्ड में दस निजी कार्यालयों की जांच भी की गई।
२०० आइसोलेशन बेड
कोरोना के प्रभाव को देखते हुए निजी अस्पतालों में आइसोलेशन बेड की व्यवस्था की जा रही है। रिलायंस एच.एन. अस्पताल, जसलोक, नानावटी, मुंबई, कोकिलाबेन, फोर्टिस, रहेजा, लीलावती और हिंदुजा अस्पताल में २०० आइसोलेशन बेड की व्यवस्था की गई है।
गुढी पाडवा तक दादर बाजार बंद
सार्वजनिक जगहों पर भीड़ को टालने के लिए दादर की दुकानदार व्यापारियों ने गुढी पाडवा तक अपनी दुकानें बंद करने का निर्णय लिया है। लगभग एक हजार दुकानें बंद रहेगी। इसी तरह जवेरी बाजार रविवार तक बंद रहेंगे। घाटकोपर के व्यापारियों ने भी रविवार तक दुकानें बंद करने का निर्णय लिया है।
मुंबई डिब्बेवालों की सेवाएं स्थगित
मुंबई के दफ्तरों में खाना पहुंचानेवाले मुंबई डिब्बेवालों ने अपनी सर्विस ३१ मार्च तक बंद करने की घोषणा की है। यह पैâसला कोरोना संक्रमण की वजह से लिया गया है। शुक्रवार से लेकर ३१ मार्च तक इनकी सर्विस बंद रहेगी। बताया जा रहा है कि मुंबई में लगभग ५ हजार डिब्बेवाले हर रोज २ लाख लोगों को खाना पहुंचाने का काम करते हैं। बता दें कि देश में सबसे अधिक कोरोना वायरस के मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं। खबर लिखे जाने तक महाराष्ट्र में कुल ४९ मरीज कोरोना से संक्रमित थे।
युवक को कोरोना नहीं
कांदिवली स्थित समता नगर में १९ वर्षीय युवक की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। क्योंकि उसकी मौत का कारण सर्दी-जुकाम और तेज बुखार था, इसलिए मृतक के आसपास रहनेवाले लोगों में ये अफवाह किसी ने पैâला दी कि उसकी मौत कोरोना की वजह से हुई है। अफवाह पैâलते देर नहीं लगी और कुछ ही देर में लोगों में दहशत का माहौल पैदा हो गया। मामला बढ़ता देख पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा। समता नगर पुलिस ने मृतक युवक के सैंपल जांच करने के लिए कस्तूरबा अस्पताल भेजा। जांच की रिपोर्ट निगेटिव आई यानी युवक को कोरोना संक्रमण नहीं हुआ था। इस तरह से अफवाह को पुलिस द्वारा दूर किया गया।

निजी अस्पतालों में ‘कोरोना’ की जांच
कस्तूरबा के बाद कल से केईएम अस्पताल में कोरोना की जांच शुरू हो गई है। इसके साथ ही निजी अस्पतालों में रिलायंस एच.एन. अस्पताल, एसआरएल लैब, मेट्रोपोलिस, हिंदुजा अस्पताल, थायरो केयर और इंफेक्शन लेबोरेटरी में कोरोना की जांच भी कल से शुरू हो गई है। यह निजी लैब रोजाना १०० से २०० मरीजों की जांच करेंगे। मनपा द्वारा भेजे गए मरीजों की ही जांच निजी लैब करेंगे।