" /> क्वारंटाइन सेंटर पर कबाहट!, लोगों ने किया जमकर विरोध

क्वारंटाइन सेंटर पर कबाहट!, लोगों ने किया जमकर विरोध

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मीरा-भाइंदर महानगरपालिका ने गोल्डन नेस्ट स्थित स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के सामने एमएमआरडीए की स्वतंत्र इमारत में १०० बेड का `क्वारंटाइन सेल’ (पृथक करण कक्ष) शुरू किया है। सभी १०० बेड की व्यवस्था अलग-अलग कमरे में की गई है, जिसमें टेलीविजन, वाईफाई, किचन, डॉक्टर व नर्स की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। यहां पर विदेशों से आनेवाले ६० वर्ष से अधिक के उम्र के कोरोना के संभावित मरीजों को रखा जाएगा, जिन्हें अस्थमा, हाई ब्लड प्रेशर, वैंâसर जैसी बीमारी की शिकायत अथवा जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण परिलक्षित होंगे। आवश्यकता पड़ने पर बेड की संख्या बढ़ाई जाएगी, ऐसी जानकारी मनपा आयुक्त चंद्रकांत डांगे ने दी।
आयुक्त डांगे ने लोगों को अफवाहों पर ध्यान नहीं देने तथा मनपा प्रशासन को सहयोग करने की गुजारिश की है। उन्होंने बताया कि कोरोना कोई जन्मजात बीमारी नहीं है। इसके वायरस एक मीटर से अधिक दूरी तक नहीं पैâलते और इसकी आयु सिर्फ १० मिनट तक की होती है। लोगों में आइसोलेशन सेंटर और क्वारंटाइन सेंटर में भ्रम की स्थिति पर आयुक्त ने बताया कि आइसोलेशन सेंटर में कोरोना वायरस से पीड़ित ऐसे मरीजों को रखा जाता है, जिनमें कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है, जबकि क्वारंटाइन सेंटर में कोरोना के संभावित मरीजों को रखा जाता है, जिनमें इसके लक्षण दिखाई देते हैं। अभी तक मीरा-भाइंदर में विदेशों से ११५ लोग आए हैं, जिनमें से २८ लोगों को १४ दिन तक निगरानी में रखने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया है। शहर के ७ अस्पतालों में आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्था की गई है, जहां ३६ बेड उपलब्ध हैं, ऐसी जानकारी आयुक्त डांगे ने दी है।
मीरा-भाइंदर शहर के मध्य में स्थित एमएमआरडीए की इमारत में शुरू किए गए क्वारंटाइन सेंटर का कुछ स्थानीय लोगों ने विरोध जताया। उनका मत था कि शहर के बीचों बीच इस इमारत में सेंटर चालू करने से स्थानीय नागरिकों का स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। विरोधकर्ताओं ने विधायक गीता जैन के कार्यालय के सामने नारेबाजी भी की। बता दें कि जिस इमारत में क्वारंटाइन सेंटर शुरू किया गया है, उस इमारत को गीता जैन से संबंधित सोनम बिल्डर ने एमएमआरडीए की स्कीम के तहत निर्माण किया है। एमएमआरडीए को सुपुर्द करने की प्रक्रिया अभी प्रलंबित है।

धार्मिकस्थलों को भी ३१ मार्च तक बंद रखने की अपील
मनपा आयुक्त डांगे ने शहर के धर्मगुरुओं से मिलकर मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, गिरजाघर आदि धार्मिक स्थलों पर कम भीड़ के जमाव व संभव हो तो ३१ मार्च तक बंद रखने की अपील की है। उनके अपील को धर्मगुरुओं ने सकारात्मक प्रतिसाद दिया है। मीरा रोड पूर्व नयानगर के अल शम्स मस्जिद के मौलाना ने कम संख्या में मस्जिद में आने व घर या इमारत परिसर में नमाज अता करने की गुजारिश की है। भाइंदर-पश्चिम के प्रमुख जैन मंदिर बावन जीनालय, ६० फुट रोड भाजी मार्वेâट का गणेश मंदिर, तारोडी का धारावी देवी मंदिर, जूचंद्र का चंडिका माता मंदिरों में ३१ मार्च तक भक्तों के प्रवेश पर आंशिक पाबंदी लगा दी गई है। अवर लेडी ऑफ नाजरथ चर्च के फादर बरथोल मैचड़ो ने भी लोगों को घर से ही प्रार्थना करने की अपील की है।

उक्त इमारत को मानवता और मानव सेवा के दृष्टिकोण से क्वारंटाइन सेंटर के लिए उपलब्ध कराया गया है। इसका विरोध सुनिश्चित और प्रायोजित था। लोगों को गुमराह करके यहां एकत्रित किया गया, इसमें विरोधी दल के लोग शामिल थे। मैं इसकी घोर निंदा करती हूं
-गीता भरत जैन (विधायक- मीरा-भाइंदर)