" /> खतरे में 781 इमारतें : 20 हजार भिवंडीकरों पर मंडराती मौत

खतरे में 781 इमारतें : 20 हजार भिवंडीकरों पर मंडराती मौत

भिवंडी मनपा के अंतर्गत अभी भी 781 इमारतें जर्जर अवस्था में हैं, जिसके चलते 20 हजार से ज्यादा लोगों पर मौत का खतरा मंडरा रहा है। हालांकि इन इमारतों में रहनेवाले लोगों को इमारत खाली करने की नोटिस जारी कर दी गई है।
बता दें कि भिवंडी मनपा के सभी पांच प्रभागों में कुल 756 इमारतों को खतरनाक घोषित किया गया है। इनमें से 210 इमारतें अति जर्जर अवस्था में हैं। इन बिल्डिंगों में 2,460 परिवार के 20 हजार से ज्यादा लोग सिर पर कफन बांधकर रहते हैं। मनपा प्रभाग समिति एक में 36, प्रभाग समिति दो में 159, प्रभाग समिति तीन में 208, प्रभाग समिति क्रमांक चार में 278, प्रभाग समिति पांच में सबसे ज्यादा 221 इमारतें जर्जर अवस्था में हैं। भिवंडी में विगत 5 सालों में करीब दो दर्जन लोग जर्जर इमारतों के धराशाई होने से काल के गाल में समा चुके हैं। सहायक आयुक्त सुदाम जाधव के अनुसार, प्रभाग समिति क्षेत्र में स्थित अति जर्जर इमारतों को खाली कराए जाने की प्रक्रिया शुरू है।