" /> खत्म होगा कोरोना का प्रभाव : सात जोन में वर्गीकृत हुई मुंबई

खत्म होगा कोरोना का प्रभाव : सात जोन में वर्गीकृत हुई मुंबई

7 आईएएस अधिकारियों पर होगी जिम्मा

मुंबई में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों को रोकने के लिए मनपा ने मुंबई को 7 जोन में वर्गीकृत कर दिया है| इन 7 जोन में 7 आईएस ऑफिसर्स की नियुक्ति की गई है, जो अपने-अपने जोन में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने का पूरा प्रयास करेंगे|

बता दें कि मुंबई में 10 दिनों के भीतर ही कोरोना के दोगुना मामले देखने को मिले हैं| इस विषय की गंभीरता को देखते हुए मनपा ने अब मुंबई के 24 वार्डों को 7 भागों में वर्गीकृत करके उनमे 7 आईएएस अधिकारियों की नियुक्ति कर दी है| इन इलाकों में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को रोकने की जिम्मेदारी इन आईएएस अधिकारियों की होगी| मनपा द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुसार इन आईएएस अधिकारियों को ग्राउंड पर रहकर कोरोना के मामले रोकने के लिए अलग-अलग नीतियां अपनानी होगी और मुंबई में जहां 10 दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं| इसकी अवधि बढ़कर 20 दिनों तक ले जानी होगी| इसके लिए वे 2 बजे से अपने जोन में आनेवाले क्षेत्रों का भ्रमण करेंगे तथा 3 बजे अपने कार्यालय लौट सकेंगे| मुंबई को 7 जॉन में वर्गीकृत करके पॉजिटिव केसेस की शीघ्रता से जांच की जाएगी| इनके संपर्क आनेवाले लोगों की भी जांच होगी| कंटेन्मेंट जोन में सख्त पुलिस बल कार्यरत रहेगा और घर-घर जाकर निगरानी रखी जाएगी| इसी के साथ इलाज और क्वारंटाइन की सुविधा भी बढ़ाई जाएगी|