" /> खुली दुकान, छिड़ा घमासान : शराब के लिए बेवड़ों ने लगाई सुबह 6 बजे से लाईन

खुली दुकान, छिड़ा घमासान : शराब के लिए बेवड़ों ने लगाई सुबह 6 बजे से लाईन

शराब के शौकीन लोग सवा महीने तक चोरी छुपे लगभग 10 गुना महंगे दाम में खरीदने को मजबूर थे। आलम ऐसा था कि गला तर करने के लिए हाथ भट्टी की देशी या अंग्रेजी शराब में हर्ज करना भी कई बेवड़ों ने छोड़ दिया था। लॉक डाउन-3 में शराब विक्रेताओं को दुकान खोलने की अनुमति देकर सरकार ने एक तरह से बेवड़ों को मुंह मांगी मुराद दे दी। इस नमूना आज सुबह से पूरे शहर में शराब की दुकानों के बाहर देखने को मिला। शराब की दुकाने खुलने की खबर से बेवड़ों में अचानक अफरातफरी मच गई। ऐसा कल दोपहर 3 बजे के करीब पश्चिमी उपनगर स्थित कई शराब की दुकानों के बाहर देखने को मिला। शराब की दुकान खुलने की आस में सुबह 6 बजे से ही शराबियों ने शराब की दुकानों के आगे लाईन में खड़े दिखे। दुकान खुलते ही बियर या शराब की बोतल खरीदने की होड़ में बेवड़ों ने सोशल डिस्टेंसींग की जमकर धज्जियां उड़ाई। बेवड़ों को नियंत्रित करने के लिए कई इलाकों में पुलिस को लाठियां भी भांजनी पड़ी।
बता दें कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 22 मार्च से पूरे देश में सरकार ने लॉक डाऊन की घोषणा की थी। 3 मई को सरकार ने रेड जोन, ऑरेंज जोन और ग्रीन जोन ऐसा देश के विभिन्न हिस्से को वर्गीकृत किया गया है। मुंबई शहर तथा उपनगर को भी रेड जोन में रखा गया है। राज्य के कैबिनेट एवं मुंबई शहर के पालकमंत्री असलम शेख का कहना है कि मुंबई शहर और उपनगर रेड जोन में भले ही है पर जहां कोरोना के हॉट स्पॉट नहीं हैं, वहां सभी तरह की दुकानों को खोलने की तैयारी सरकार कर रही है। फिलहाल कुछ दुकानों को खोलने की अनुमति भी दी गई है, जिसमें शराब की दुकाने भी शामिल हैं।
कल दोपहर 3 बजे के करीब मालवणी एक नंबर, फायर ब्रिगेड के बगल में स्थित दीपमाला बिल्डिंग में मौजूद तीन शराब की दुकानों में से 2 दुकाने खुलीं। दुकान खुलते ही शराब खरीदने के लिए बेवड़ों में होड़ मच गई। दोनो दुकानों के बाहर सुबह से ही लंबी कतार लगा कर लोग खड़े थे। दोपहर 12 बजे के करीब मालवणी पुलिस के कुछ जवान इन्हें भगाते भी दिखे। साथ ही शराब की दुकान नहीं खुलने की बात भी कहते सुने गए। पुलिस के भगाने पर यह लोग कुछ समय के लिए इधर-उधर हो जाते थे पर फिर यह सभी जमा हो रहे थे। कल दोनो दुकानों पर शराब लेने के लिए पुरुषों के साथ-साथ बड़ी संख्या में महिलाएं भी कतार में खड़ी दिखीं। मंत्री असलम शेख ने बताया की शहर या उपनगर में जहां जहां भी कोरोना के हॉट स्पॉट नही हैं वहां दुकाने अब खुलेंगी।