खेल खतम कंगारू हजम

ऑस्ट्रेलियाई टीम को पवेलियन का रास्ता दिखानेवाले जोफ्रा आर्चर की डकार से पूरी कंगारू टीम भयभीत है। दरअसल तेज गेंदबाज जोप्रâा आर्चर की तूफानी गेंदबाजी की मदद से इंग्लैंड ने तीसरे एशेज टेस्ट क्रिकेट मैच के पहले दिन ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में १७९ रन पर समेट दिया। अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे आर्चर ने ४५ रन देकर छह विकेट लिए। यह उनके करियर का पहला अवसर है जबकि उन्होंने टेस्ट मैचों में पांच या इससे अधिक विकेट हासिल किए। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर दो विकेट जल्दी गंवा दिए जिसके बाद डेविड वॉर्नर (६१) और मार्नस लाबुशेन (७४) ने तीसरे विकेट के लिए १११ रन जोड़कर स्थिति संभाली। इन दोनों के अलावा केवल कप्तान टिम पेन (११) ही दोहरे अंक में पहुंचे। ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। आर्चर ने चौथे ओवर में ही मार्कस हैरिस (आठ) को विकेट के पीछे वैâच कराया जबकि ब्रॉड ने उनका स्थान लेने के लिए उतरे उस्मान ख्वाजा (आठ) को पवेलियन भेजा जिससे स्कोर दो विकेट पर २५ रन हो गया। बारिश के व्यवधान के बीच वॉर्नर और लाबुशेन ने अच्छी जिम्मेदारी संभाली। इन दोनों ने २३ ओवर तक कोई विकेट नहीं गिरने दिया और इस बीच शतकीय साझेदारी भी निभायी। आखिर में आर्चर की लगभग ९० मील प्रतिघंटे की रफ्तार से गई गेंद वॉर्नर के बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर जॉनी बेयरस्टो के दस्तानों में पहुंची जिससे यह साझेदारी टूटी।