गड्ढा नहीं भरा, तो सड़क पर उतेरगी शिवसेना

गणेशोत्सव आगामी २ सितंबर को है। इसके बावजूद सड़कों की दशा बेहद खराब है। अगर गणेशोत्सव में कोई दुर्घटना घटती तो इसके लिए मनपा प्रशासन जवाबदार होगी। ऐसी चेतावनी उल्हासनगर शिवसेना शहर प्रमुख राजेंद्र चौधरी सहित शिवसेना पदाधिकारियों का शिष्टमंडल मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख से मुलाकात कर गड्ढों का निवारण करने की मांग की। अन्यथा शिवसेना सड़क पर उतरेगी।
उल्हासनगर के सभी मुख्य सड़कों की दुर्दशा दयनीय हो गई है। जिस कारण कई नागरिकों को अपनी जान गंवानी पड़ी। फिर भी मनपा प्रशासन अपनी आंखें बंद किए बैठी है। सामने गणपति जैसा महाउत्सव है। पर सड़क की स्थिति जस की तस बनी हुई है। यही नहीं प्रशासन ने अभी तक गणेश विसर्जन घाट को लेकर भी न तो कोई रणनीति बनाई है और न ही तैयारी की है।
वहीं पर मनपा प्रशासन ने गणेश मंडलों को यातायात समस्या का हवाला देकर कई गणपति पंडालों को परमिशन नहीं दिया है। जबकि दूसरी तरफ शहर में यातायात समस्या उत्पन कर रहे अवैध निर्माण, पार्विंâग कई वर्षों से सड़क पर कब्जा जमाए भंगार गाड़ियों पर प्रशासन कार्रवाई नहीं कर रही है। जिसे गंभीरता से लेते हुए शिवसेना शहर प्रमुख राजेंद्र चौधरी और धनंजय बोडारे, अरुण आशान, दिलीप गायकवाड, शेखर यादव, रमेश चव्हाण, सुनील सुर्वे, सुरेश जाधव कुलदीप सिंह, उपशहरप्रमुख राजेंद्र साहू, शहर अधिकारी बाला श्रीखंडे, ज्ञानेश्वर मरसाले, पप्पू जाधव ने मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख से मुलाकत कर सड़कों को गड्ढा मुक्त करने व अन्य समस्यों को लेकर निवेदन दिया।