‘गन्‍ने से मधुमेह होता है दूसरी फसलें उगाएं’- योगी

पश्चिमी उत्तर प्रदेश को राज्य का चीनी का कटोरा कहा जाता है, क्योंकि इस क्षेत्र में गन्ने की फसल काफी मात्रा में उगाई जाती है लेकिन अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही यहां के किसानों को गन्ना छोड़कर कुछ और फसल उगाने को कह रहे हैं। दरअसल १५४ किलोमीटर लंबे दिल्ली-सहारनपुर हाइवे के शिलान्यास के मौके पर योगी आदित्यनाथ ने बागपत में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि किसानों को गन्ने के अलावा अन्य फसल उगाने की भी आदत डालनी चाहिए क्योंकि गन्ने का ज्यादा उत्पादन उसके ज्यादा उपभोग को बढ़ाता है, जो कि डायबिटीज का बड़ा कारण है। किसानों को सब्जियां भी उगानी चाहिए क्योंकि दिल्ली में सब्जियों के लिए बड़ा बाजार है। आप लोग इन दिनों बहुत ज्यादा गन्ने का उत्पादन कर रहे हैं।
दिल्ली-सहारनपुर हाइवे मुजफ्फरनगर और शामली से होकर गुजरेगा और इस हाइवे की लागत १,५०५ करोड़ रुपए होगी। गन्ने के बकाया भुगतान के मुद्दे पर अपनी सरकार का पक्ष रखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार ने इस साल २६,००० करोड़ रुपए के गन्ना बकाए का भुगतान कर दिया है और बाकी बचा हुआ १०,००० करोड़ रुपए का भुगतान भी जल्द ही कर दिया जाएगा।