" /> गांववालों को फ्री में बांटा ५ हजार मुर्गे

गांववालों को फ्री में बांटा ५ हजार मुर्गे

बिहार के अरवल जिले में कोरोना वायरस को लेकर अफवाहों का बाजार गर्म है। इस कड़ी में जहां कई लोगों ने मांसाहार खाना छोड़ दिया है। वहीं, हालात ऐसे हो गए हैं कि पोल्ट्री व्यवसाय से जुड़े लोगों को अब फ्री में मुर्गा  बांटना पड़ रहा है।

कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है बिहार के अरवल जिले से जहां पॉल्ट्री फॉर्म मालिक ने मजबूरी में एक-दो नहीं बल्कि ५००० से अधिक मुर्गों को लोगों के बीच फ्री  में बांट दिया। लोगों की भीड़ के कारण व्यवसायी अपने घर की छत पर जा खड़ा हुआ और वहां से उसने एक-एक कर मुर्गा नीचे फेंकना शुरू किया। कहानी अरवल जिले के सदर थाना क्षेत्र के खोपड़ी गांव की है।

जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस के डर से इलाके के लोगों ने चिकन, मटन और मछली खाना छोड़ दिया है। इसका सबसे ज्यादा प्रभाव चिकन बाजार पर पड़ा है। चिकेन का प्रोडक्शन होने के बाद भी मुर्गे की बिक्री न होने की स्थिति में दुकानदार ने प्रâी में ही मुर्गों को मुफ्त में बांटने का फैसला ले लिया। गांव के लोगों को जैसे ही मुफ्त में मुर्गा मिलने की सूचना मिली, वहां बड़ी संख्या में लोग जुट गए और लोगों में मुर्गा लूटने की होड़ मच गई।
संयोगवश मुर्गा लूटने के दौरान किसी को कोई चोट नहीं आई। दुकानदार ने बताया कि कोरोना वायरस के डर से पूरे बाजार में भ्रम की स्थिति है और लोग बीमार न हों इसको लेकर मुर्गा खाना छोड़ रहे हैं। इसका असर सीधे व्यवसाय पर पड़ रहा है।