" /> ग्रहण काल में खुलेगा द्वारिकाधीश मंदिर, भक्तों को दर्शन देंगे राजाधिराज

ग्रहण काल में खुलेगा द्वारिकाधीश मंदिर, भक्तों को दर्शन देंगे राजाधिराज

– ज्योतिषाचार्यों के अनुसार 21 जून को पड़नेवाला सूर्य ग्रहण इस साल का सबसे लंबा ग्रहण होगा।
– 10 मिनट तक दिन में अंधेरे जैसी स्थिति हो जाएगी।

श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा में सूर्य ग्रहण के समय अधिकांश मंदिरों के पट बंद रहेंगे लेकिन द्वारिकाधीश मंदिर ग्रहण काल में भी भक्तों के लिए खुला रहेगा। इस दौरान राजाधिराज भक्तों को दर्शन देंगे। हालांकि सायंकालीन दर्शन में परिवर्तन किया गया है। मंदिर के विधि एवं मीडिया प्रभारी राकेश तिवारी एडवोकेट ने बताया कि 21 जून को पड़नेवाले सूर्यग्रहण में द्वारिकाधीश मंदिर के दर्शन हर दिन की तरह भक्तों के लिए खुलेंगे।

उन्होंने बताया कि रविवार को सुबह 10 से 11 बजे तक भक्तों को राजभोग के दर्शन होंगे। ग्रहण काल में पुष्टिमार्गीय संप्रदाय में भजन, कीर्तन कर ठाकुरजी का साथ देना होता है।

सायंकालीन दर्शन में परिवर्तन
उन्होंने बताया कि मंदिर के गोस्वामी बृजेश कुमार के आदेशानुसार व कांकरोली युवराज डॉ. वागीश कुमार के निर्देशानुसार मंदिर के समय में परिवर्तन किया गया है। प्रतिदिन सायंकाल में होनेवाले दर्शन 21 जून को भक्त नहीं कर सकेंगे। हालांकि मंदिर के अंदर सेवा चालू रहेगी। उन्होंने बताया कि ग्रहण के बाद मंदिर की साफ सफाई होती है। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना महामारी के बीच सरकार की गाइडलाइन के अनुसार भक्तों को दर्शन कराए जाएंगे। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार 21 जून को पड़नेवाला सूर्य ग्रहण इस साल का सबसे लंबा होगा। 10 मिनट तक दिन में अंधेरे जैसी स्थिति हो जाएगी। इसका सूतक शनिवार की रात में लग जाएगा। ग्रहण होने से चूड़ामणि योग बन रहा है।