" /> ग्रामीण वाइन शॉप पर शहरी शराबियों का तांता!

ग्रामीण वाइन शॉप पर शहरी शराबियों का तांता!

– हजारों मीटर लंबी कतार 
– सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ रही हैं धज्जियां
– दुकान बंद कराने को लेकर ग्रामीणों ने दिया तहसीलदार को ज्ञापन
शहरीय इलाके में प्रतिबंधित होने के कारण ग्रामीण अंचल के वाइन शॉपों पर ग्रामीण सहित शहरी शराबियों का दारू खरीददारी के लिए तांता लगा हुआ है। शराब प्रेमी सोशल डिस्टेंसिंग व कानून की धज्जियां उड़ाते हुए शराब खरीदने के लिए हजारों मीटर लंबी लाइन लगा रहे हैं, जिसके कारण ग्रामीणों में कोरोना के फैलने का भय सताने लगा है। फलस्वरूप ग्रामीणों ने तहसीलदार को ज्ञापन देकर वाइन शॉप को तत्काल बंद कराने की मांग की है।
मालूम हो कि लॉक डाउन के तीसरे चरण में सरकार ने कुछ शर्तों के साथ शराब की दुकान खोलने का आदेश दिया है, जिसके कारण भिवंडी ग्रामीण क्षेत्र की वाइन शॉप पर भिवंडी शहर, ठाणे, कल्याण, वसई, विरार से शराब प्रेमियों की भीड़ शराब खरीदने के लिए लग रही है, इससे ग्रामीण भाग के लोग परेशान हैं। भिवंडी तालुका के अंतर्गत ग्रामीण भाग में शराब की दुकान खुलने के बाद पिछले तीन-चार दिनों से दुकान के बाहर शराब खरीदनेवालों की भीड़ ने सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा दी हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि क्षेत्र के लोगों के अलावा कल्याण, भिवंडी शहर, ठाणे, उल्हासनगर, वसई, विरार जैसे कोरोना वायरस प्रभावित क्षेत्रों के लोग भी शराब खरीदने के लिए आ रहे हैं। इस संदर्भ में भिवंडी शहर से सटे शेलार ग्रामपंचायत के सरपंच रवींद्र गुंदोलकर ने कहा कि हमारा शराब की बिक्री से विरोध नहीं है लेकिन कोरोना रोग फैले नहीं इसके लिए कोई सावधानी नहीं बरती जा रही है। हमारी ग्राम पंचायत आज भी स्वास्थ्य व कोरोना रोग की दृष्टि से काफी सुरक्षित है, किंतु अन्य शहर से आनेवाले ग्राहक इस कोरोना वायरस रोग का क्षेत्र में फैलाव कर सकते हैं। यह डर ग्रामवासियों के अंदर व्याप्त है। इसीलिए हम लोगों ने शराब की दुकान बंद करने के लिए पुलिस विभाग, राज्य उत्पादन शुल्क विभाग और तहसीलदार से निवेदन किया है।