" /> घंटों ट्रेन लेट होने का परिणाम : श्रमिक ट्रेन में मिली लाशों से मंडुवाडीह में हड़कंप

घंटों ट्रेन लेट होने का परिणाम : श्रमिक ट्रेन में मिली लाशों से मंडुवाडीह में हड़कंप

लॉक डाउन के दौरान घर भेजने के लिए विशेष ट्रेनें चलाई जा रही हैं, परंतु इन ट्रेनों के समय पर न पहुंचने के कारण भूख-प्यास से यात्रियों का बुरा हाल हो रहा है। वहीं भयानक गर्मी व अन्य कारणों से कई यात्री ट्रेन में ही अपनी जान गंवा दे रहे हैं।
बता दें कि मुंबई से चलकर मंडुवाडीह स्टेशन पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन में दो लोग मृत मिले। सूचना मिलने पर शव उतारने के लिए पूरी तैयारी के साथ स्वास्थ्य विभाग सहित जिला प्रशासन और जीआरपी की टीम भी मौके पर पहुंची। बता दें कि घर लौटनेवाले प्रवासी मजदूरों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। ट्रेनें गलत रूट पर चलने के कारण कई घंटे विलंब से अपने गंतव्य तक पहुंच रही हैं। इस बीच भूख औऱ प्यास के कारण श्रमिकों की स्थिति बिगड़ जा रही है। मंडुआडीह स्टेशन पर बुधवार को मुंबई से चलकर पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन में दो लोगों के अलग-अलग बोगियों में मृत मिलने से हड़कंप मच गया। जानकारी के मुताबिक ट्रेन नंबर 01770 बुधवार की सुबह लगभग 8 बजे मंडुवाडीह स्टेशन पहुंची। इसी दौरान एक मृत व्यक्ति के परिजन रोने लगे। यह देख मौके पर आरपीएफ पहुंची। मृत व्यक्ति के शरीर को छूने को कोई भी व्यक्ति तैयार नहीं था। मृतक व्यक्ति की शिनाख्त दशरथ प्रजापति (30) दिव्यांग के रूप में हुई है। भाई लालमनी ने बताया कि हमें जौनपुर के लालपुरा बदलापुर जाना था। प्रयागराज से ट्रेन चली तो भाई दशरथ की तबीयत खराब होने लगी। मंडुआडीह स्टेशन पर पहुंचने के बाद जब उन्हें जगाया गया तो वे उठे ही नहीं। इसी ट्रेन में पीछे की बोगी में एक और व्यक्ति का शव मिला, जिसके मुंह से झाग और नाक से खून निकल रहा था। मृत व्यक्ति के शरीर पर क्रीम कलर का हाफ पैंट, चेकदार शर्ट व बगल में मोबाइल रखा हुआ था।