" /> घटिया दर्जे का अनाज दिया तो हो गया लाइसेंस रद्द, राशनिंग विभाग की कार्रवाई

घटिया दर्जे का अनाज दिया तो हो गया लाइसेंस रद्द, राशनिंग विभाग की कार्रवाई

मुंबई व ठाणे स्थित राशन की दुकानों से घटिया दर्जे का अनाज वितरित किए जाने की बड़े पैमाने पर शिकायतें राज्य सरकार के पास आई हैं। इसके चलते घटिया दर्जे का अनाज वितरित करनेवाले दुकानदारों के साथ ही राशन विभाग के अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी खाद्य, नागरिक व उपभोक्ता संरक्षण मंत्री छगन भुजबल ने दी है।
खाद्य व नागरिक आपूर्ति विभाग की सतर्कता टीम ने राशन की दुकानों पर जाकर पड़ताल करनी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में जब सतर्कता टीम ने गोरेगांव स्थित राशन के दुकान की जांच की तब राशनकार्ड धारकों को ४२४ किलो चावल, ५८६ किलो गेहूं कम वितरित जाने का उन्हें पता चला। कम अनाज वितरित कर राशनिंग दुकानदार द्वारा ३१,५३० रुपए के गबन किए जाने का खुलासा हुआ। इस दुकानदार के खिलाफ बांगुरनगर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में दोषी पाए गए राशनिंग विभाग के अधिकारियों पर भी कार्रवाई की गई है। इस दुकान का लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है। इसी तरह मालवणी की राशनिंग दुकान क्रमांक ४२ ग २९८ और घाटकोपर की राशन दुकान क्रमांक ३४ ई १०८ का निरीक्षण राशनिंग विभाग की सतर्कता टीम ने शिकायत आने के बाद किया। इन दोनों दुकानों में अनाज घटिया दर्जे का पाया गया। अधिकारियों ने दोनों दुकानों के खिलाफ संबंधित पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया है।
अधिकृत राशन की दुकानों से घटिया दर्जे का अनाज वितरित किए जाने पर हेल्पलाइन नंबर-०२२-२२८५२८१४ अथवा ईमेल-्ब्म्दr.प्द-स्ल्स्ॅुदन्.ग्ह पर शिकायत करने का आह्वान राशनिंग विभाग के कंट्रोलर वैâलाश पगारे ने नागरिकों से किया है।