" /> घनी आबादी में कारखाने में मिले 44 श्रमिक

घनी आबादी में कारखाने में मिले 44 श्रमिक

स्थानीय निवासियों की शिकायत पर पुलिस ने गली मेघा स्थित कास्टिंग कारखाने में छापेमारी की। इसमें मिले 44 लोगों का चिकित्सकीय टीम बुलाकर परीक्षण कराया। सभी सही मिले हैं, वहीं लॉकडाउन उल्लंघन के तहत कारखाने संचालक के खिलाफ पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है। चौक बाजार की गली मेघा निवासी स्थानीय लोगों को मंगलवार सुबह गली स्थित एक कारखाने में काफी संख्या में लोगों के मौजूद होने भनक लगी। दरअसल गली में कारखाने में रह रहे लोगों ने कुछ ऐसा गली में डाल दिया, जिस पर कुत्ते लगे हुए थे। भनक लगते ही गली के लोगों ने गोविंदनगर पुलिस से इसकी शिकायत की। सूचना मिलने पर प्रभारी निरीक्षक गोविंदनगर अजय कुमार सिंह ने पुलिस बल के साथ गली मेघा स्थित कारखाने में छापेमारी की। इलाका पुलिस को कारखाने के अंदर से 44 लोग मिले। बताया गया कि इनमें से 37 मुस्लिम श्रमिक थे। इस पर पुलिस ने चिकित्सकों की टीम बुला कर उनका परीक्षण करवाते हुए वहीं पर छोड़ दिया। पुलिस ने कारखाना संचालक के खिलाफ बिना सूचना दिये इतने लोगों को रखने पर निषेधाज्ञा व लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की है। प्रभारी निरीक्षक गोविंदनगर ने बताया कि स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस ने गली मेघा स्थित कारखाने पर छापेमारी की। वहां पश्चिम बंगाल के 44 मजदूर मिले। सभी वहां रह रहे थे। कारखाने में काम नहीं चल रहा था। इस मामले में कारखाना संचालक के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन आदि की रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।