" /> कामगार सेना का अन्नदान

कामगार सेना का अन्नदान

आज पूरा विश्व कोरोना की चपेट में है। इस महामारी से हजारों लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी है।  पूरे हिन्दुस्थान में हजारों लोग इसकी चपेट मे आ गए हैं। इससे बचने के लिए पूरे देश में लाॅकडाउन लगाया गया है। लोगों को उनके घरों से बाहर निकलने पर प्रतिबंध है। ऐसे हालात में रोजाना कमा कर अपना तथा अपने परिवार का पालन करनेवालों के सामने विकट समस्या उत्पन्न हो गई है। मुंबई सहित महाराष्ट्र में फंसे लोगों के लिए सरकार तथा विभिन्न सामाजिक संस्थाओं की ओर से उन्हें खाने की व्यवस्था की गई है। इसी तरह की एक सेवा दक्षिण मुंबई स्थित बाबुल नाथ रोड के गणेश मंदिर से शुरु की गई है। यह सेवा घरेलू कामगार सेना की तरफ से चलाई जा रही है। संस्था के अध्यक्ष सुरेश ठाकुर के अनुसार संस्था की ओर से हाथ गाड़ी खींचने वाले घरों मे काम करनेवाले नाका कामगार तथा फुटपाथों पर रहने वालों के लिए दोनों वक्त के भोजन की व्यवस्था की गई है। संस्था के कार्यकर्ता परेश धनू सतीश जाधव रत्ना ताई, अनिकेत पवार, किशोर तलेकर, शरमू भाई राकेश मेहेरेकर एकनाथ जाधव सहित संस्था के विभिन्न कार्यकर्ता अपनी मोटर सायकिल पर भोजन सामग्री लेकर जरूरतमंदों तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं। यह कार्य रोजाना बाबुल नाथ से शुरू होकर वालुकेश्वर तारदेव तथा हाजी अली पर समाप्त हो जाती है।इस कार्य मे ट्राफिक पुलिस स्थानिय पुलिस तथा मनपा कर्मचारियों का विशेष सहयोग मिल रहा है ।