" /> चक्रवात संकट का सामना करने के लिए मुंबई सक्षम, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने लिया जायजा

चक्रवात संकट का सामना करने के लिए मुंबई सक्षम, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने लिया जायजा

कोरोना संकट के बीच मुंबई पर निसर्ग चक्रवात संकट मंडरा रहा है। एक के पीछे एक संकट भले ही आ रहा हो, ऐसे कई संकटों का मुकाबला मुंबईकरों ने आत्मविश्वास के साथ किया है। निसर्ग चक्रवात आया तो भी इस संकट में एक दूसरे के सहयोग से काम करके जनता की सुरक्षा करें। यह आह्वान पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने किया।
मौसम विभाग ने निसर्ग चक्रवात महाराष्ट्र के पश्चिमी समुद्री किनारों पर आने की संभावना जताई है। इसी परिप्रेक्ष्य में पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने वीडियो कॉन्प्रâेंसिंग के जरिये मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल सहित मनपा के अन्य अधिकारियों से बातचीत की। इस दौरान चक्रवात से निपटने के लिए मनपा द्वारा की गई तैयारी का भी जायजा उन्होंने लिया। इसके बाद उन्होंने कुछ दिशा निर्देश भी दिए। भूस्खलन क्षेत्र, निचले भागों में रहनेवाले लोगों को सुरक्षित जगह पर ले जाने का भी आदेश दिया। कोस्टल रोड आदि परियोजनाएं मुंबई में शुरू हैं। इन परियोजनाओं में काम करनेवाले मजदूरों की सुरक्षा पर ध्यान देने का भी निर्देश पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने दिया। स्थानांतरित हुए लोगों के खाने की व्यवस्था करने का भी निर्देश उन्होंने दिया। पुलिस विभाग से समन्वय बनाकर समुद्र किनारे भीड़ न होने दें। सुरक्षा के लिहाज से ऐसे कई कदम उठाने का निर्देश पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने मनपा प्रशासन को दिया है।