चारा नहीं है तो पशुओं को रिश्तेदारों के यहां भेज दो

भाजपा मंत्री की अजब सलाह
सूखाग्रस्त क्षेत्रों में चारा के अभाव में पशु भूखे मर रहे हैं। इसके लिए सरकारी मदद मांगने गए किसानों को जल संसाधन मंत्री व नगर जिला के पालकमंत्री राम शिंदे ने अजब सलाह देते हुए कहा कि पशुओं को रिश्तेदारों के यहां भेज दो। पालकमंत्री राम शिंदे के इस बयान से किसानों में आक्रोश व्याप्त है। राम शिंदे का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ है। किसान नेता रघुनाथ पाटील ने राम शिंदे के वक्तव्य का निषेध व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार जिम्मेदारी से भागनेवाली भाषा बोल रही है।
बता दें कि केंद्रीय सूखा जांच दल नगर जिला के दौरे पर गया था। इस पार्श्वभूमि पर पालकमंत्री शिंदे पाथर्डी गए थे। उस समय कुछ किसान राम शिंदे से मिलने के लिए गए और सूखा के कारण चारा उपलब्ध नहीं है, जिसके कारण पशुओं में भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। भाजपा मंत्री शिंदे ने किसानों को संभालने की जगह सलाह दी कि पशुओं को रिश्तेदारों के यहां भेज दो। राम शिंदे की इस अजब सलाह से उपस्थित किसान, स्थानीय नेता और नगरसेवक हतप्रभ रह गए।
राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि भाजपा मंत्री का वक्तव्य परेशान किसानों का मजाक उड़ानेवाला वक्तव्य है। किसानों के पशुओं के लिए चारा छावनी, पानी आदि की व्यवस्था करना सरकार की जिम्मेदारी है। सरकार अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है। मंत्री द्वारा इस तरह का गैर जिम्मेदाराना वक्तव्य देना गंभीर बात है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ऐसे गैर जिम्मेदार मंत्री के खिलाफ क्या कार्रवाई करेंगे? यह जनता को बताएं, ऐसा मलिक ने कहा।