" /> चार हत्याओं से दहला प्रयागराज! लोगों ने उठाया कानून व्यवस्था पर सवाल

चार हत्याओं से दहला प्रयागराज! लोगों ने उठाया कानून व्यवस्था पर सवाल

-पेशे से वैद्य थे परिवार के मुखिया
-जड़ी-बूटियां बेचकर चलाते थे घर का खर्च

उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुई पुलिस पर हमले की घटना के बाद पूरा प्रदेश हिल गया है। इस घटना के साथ ही प्रयागराज में हुई हत्याओं की घटना ने यूपी की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। प्रयागराज में एक ही परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई, वहीं परिवार के एक सदस्य की हालत गंभीर है। वारदात को शुक्रवार तड़के तब अंजाम दिया गया जब पूरा परिवार सो रहा था।

मामला पटेलनगर के शुकुल गांव का है। बताया जा रहा है कि यहां रहने वाले विमलेश पांडेय (40) अपने परिवार के साथ घर में सोए हुए थे। सुबह गांव के लोगों को हत्या का पता चला तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस पहुंची तो देखा कि विमलेश के पूरे परिवार की हत्या कर दी गई है।
मारे गए लोगों में विमलेश पांडेय, उनका बेटा सोमू (22), शिबू (19), प्रिंस (18) शामिल हैं। विमलेश की पत्नी गंभीर रूप से घायल हैं। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इस हत्याकांड ने हर किसी को हैरानी में डाल दिया है। बताया जा रहा है कि यह परिवार गरीब था। परिवार के मुखिया विमलेश पांडेय पेशे से वैद्य थे। जड़ी-बूटी बेचते थे और उसी से परिवार का पालन-पोषण करते थे। लोगों का कहना है कि परिवार की किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। ऐसे इन हत्याओं को क्यों अंजाम दिया गया?