" /> चीनी ऐप बैन से खुश हुए अंकल सैम!, अमेरिकी विदेश मंत्री बोले, भारत की संप्रभुता, एकता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए यह जरूरी

चीनी ऐप बैन से खुश हुए अंकल सैम!, अमेरिकी विदेश मंत्री बोले, भारत की संप्रभुता, एकता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए यह जरूरी

भारत में ५९ चीनी ऐप्स के बैन होने से सबसे ज्यादा खुश अंकल सैम हैं। अंकल सैम यानी अमेरिका। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा है कि यह बड़ी खुशी की बात है कि भारत ने ५९ चीनी ऐप्स को बैन कर दिया है। यह भारत की अखंडता और एकता के लिए बहुत ही जरूरी था।

बता दें कि चीन के ५९ ऐप्स को बैन करने के फैसले पर भारत को अमेरिका का साथ मिला है। अमेरिका ने भारत की इस कार्रवाई की सराहना की है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि ये कदम भारत की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देगा। भारत और चीन के बीच इस वक्त तनाव चरम पर है। गलवान घाटी में चीन की करतूत के बाद भारत उसे सबक सिखाने में जुट गया है। सरकार उसे आर्थिक मोर्चे पर चोट पहुंचा रही है। इसी के तहत सोमवार को मोदी सरकार ने चीन के ५९ ऐप्स को बैन करने का फैसला लिया था। इसमें टिकटॉक, शेयरइट, हेलो, यूसी ब्राउजर और वीचैट जैसे ऐप शामिल हैं। दुनिया को कोरोना वायरस जैसी महामारी देनेवाला चीन इस समय चारों तरफ से घिरा हुआ है। कोरोना को लेकर एक ओर जहां वो अमेरिका के निशाने पर है तो वहीं एलएसी पर भारत उसकी हर हरकत का मुंहतोड़ जवाब दे रहा है। इसके अलावा साउथ चाइना सी में उसका जापान से तनाव चल रहा है। एलएसी पर चीन के साथ तनाव को लेकर अमेरिका भारत के साथ खड़ा है। गलवान घाटी में शहीद हुए भारत के २० सैनिकों को अमेरिका ने श्रद्धांजलि भी दी। अमेरिका की ओर से बयान भी आ चुका है कि उसने मामले पर नजर रखी हुई है।

उधर, बौखलाए चीन की पूरी कोशिश है कि भारत किसी भी सूरत में अमेरिका से हाथ ना मिलाए। चीन को अच्छी तरह मालूम है कि भारत और अमेरिका साथ आए तो दक्षिण एशिया और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में वो बुरी तरह घिर जाएगा।