" /> चुनौतियों को बनाया अवसर : योगी

चुनौतियों को बनाया अवसर : योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि तीन साल पहले भाजपा नेतृत्व ने भरोसा कर मुझे सबसे बड़े प्रदेश की सत्ता की कमान सौंपी थी। उस समय के हालात किसी से छिपे नहीं हैं। कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं थी। विकास बेपटरी था। संवैधानिक संस्थाओं से लोगों का भरोसा खत्म हो चुका था। हालात अत्यंत चुनौतीपूर्ण थे, लेकिन हमने उन चुनौतियों को अवसर में बदला। आज हम प्रदेश में विकास, विश्वास और सुशासन का माहौल कायम करने में कामयाब रहे। हर क्षेत्र में हमने विकास के नये मानक स्‍थापित किये  हैं। सरकार के तीन वर्ष पूरे होने के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ लोकभवन में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। इस दौरान मुख्‍यमंत्री ने कहा कि यह सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कुशल मार्गदर्शन एवं प्रेरणा से संभव हो पाया। इसमें केंद्रीय संसदीय टीम, प्रदेश भाजपा संगठन, सहयोगी मंत्रीगण एवं अन्य जनप्रतिनिधियों का भी पूरा सहयोग रहा। उन्‍होंने कहा कि सबकी मदद से ही पिछले साल प्रयागराज में भव्य और दिव्य कुंभ का आयोजन हुआ। किसानों की ऋण माफी, प्रधानमंत्री आवास, शौचालय, उज्जवला, आयुष्मान भारत, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेंहू और धान की रिकॉर्ड खरीद और भुगतान, गन्ना मूल्य का रिकॉर्ड भुगतान, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, निवेश, शिक्षा एवं स्वास्थ्य, सडक़ों का संजाल और एयर कनेक्टिविटी आदि के क्षेत्रों में कीर्तिमान बनाया है। सीएम ने गीता का सूत्र वाक्य ‘’परित्राणाय साधूना विनाशाय च दुष्कृताम’’ को सुनाते हुए कहा कि उनकी सरकार इसी आधार पर काम कर रही है। परिणाम है कि तीन वर्ष में प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ। 2016 के सापेक्ष 2019 में संगठित अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगा है। डकैती के मामले में 59.70 प्रतिशत, लूट के मामले में 47.09 प्रतिशत, हत्या के मामले में 21.71 प्रतिशत, बलवा में 27.20 प्रतिशत, अपहरण के मामले में 37.74 प्रतिशत और बलात्कार के मामले में 17.90 प्रतिशत की कमी आई है। उन्होंने कहा कि पुलिस के आधुनिकीकरण की दिशा में हमारी सरकार ने काफी काम किया है। 1.37 लाख पुलिस कर्मियों की भर्ती की गई है। पुलिस व फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी बनाने की दिशा में कार्यवाही आगे बढ़ाई गई है। हर रेंज में साइबर थाना और फॉरेंसिक लैब बनाने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में 30 लाख गरीबों को आवास दिया गया। 2 करोड़ 61 लाख परिवारों को व्यक्तिगत शौचालय दिया गया। 2017 के पहले प्रदेश के 4-5 जनपदों को बिजली मिलती थी। आज हमारी सरकार सभी 75 जनपदों को बिना भेदभाव के बिजली दे रही है। सौभाग्य योजना के तहत 1 करोड़ 24 लाख से ज्यादा परिवारों को नि:शुल्क कनेक्शन दिया गया है। 1 लाख 67 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाई गई। सब स्टेशन बनाए गए, फीडर सप्रेशन की कार्रवाई को आगे बढ़ाया गया। योगी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना और मुख्यमंत्री जन आरोग्य के तहत प्रदेश में 5 लाख रुपये की स्वास्थ्य बीमा कवर दिया जा रहा है। प्रदेश के अंदर एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस को हर जनपद तक पहुंचाया गया है। 1947 से 2016 तक प्रदेश में कुल 12 मेडिकल कॉलेज बने थे। विगत तीन वर्ष के दौरान हमारी सरकार ने 30 नये मेडिकल कॉलेज बनाए हैं। दो नये एम्स में ओपीडी शुरू हो गई है। प्रदेश के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर मुख्यमंत्री आरोग्य मेला के माध्यम से अंतिम पायदन पर बैठे हुए व्यक्ति को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ दिया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) अभिनव योजना है। इसके माध्यम से 28 प्रतिशत निर्यात बढ़ा है। इस बार के यूनियन बजट में इस बात का आह्वान किया गया है कि उत्तर प्रदेश की एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) देश के सभी राज्यों में लागू करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 के पहले देश के अंदर केंद्र की योजनाओं में उत्तर प्रदेश की गिनती कहीं नहीं होती थी, हमारी सरकार की टीम वर्क का परिणाम है कि आज उत्तर प्रदेश देश में नंबर एक पर है। इसमें प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत, स्वच्छ भारत मिशन, सौभाग्य योजना, उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना शामिल हैं। योगी ने कहा कि 1 करोड़ 87 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ मिल रहा है। 36 करोड़ रुपये से 86 लाख किसानों की कर्ज माफी की गई। किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में हमारी सरकार लगातार कार्य कर रही है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम तेजी चल रहा है। इस साल के आखिर तक उसे खोल देंगे। अगले वर्ष के अंत तक बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे काम शुरू हो जाएगा। गंगा एक्सप्रेस वे पर काम चल रहा है। यह तीनों एक्सप्रेस-वे यूपी की अर्थव्यवस्था को नई दिशा देंगे। शिक्षा के क्षेत्र में भी व्यापक बदलाव हुआ है। 50 लाख बच्चे बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में बढ़े हैं। 92 हजार स्कूलों का कायाकल्प हुआ है। माध्यमिक शिक्षा में आजादी के बाद जितने शासकीय इंटर कॉलेज नहीं बने थे, 3 साल में 193 कॉलेज बने हैं। पूरे प्रदेश में नकल विहीन परीक्षा हुई है। उच्च शिक्षा में भी प्रदेश ने नई छलांग लगाई है। प्रदेश में पहले 27 निजी विश्वविद्यालय थे। हमारी सरकार एक साथ 28 निजी विश्वविद्यालय बनाने के साथ ही 8 नए राज्य विवि बना रही है। योगी ने कहा कि प्रथम एवं द्वितीय ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी व अन्य माध्यमों से लगभग तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश आने से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से 33 लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिला है। इसके साथ ही तीन लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई है। जिनको लेकर कोई शिकायत सामने नहीं आई है। पत्रकार वार्ता में दोनों डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, केशव प्रसाद मौर्य, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, संगठन मंत्री सुनील बंसल, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव आरके तिवारी, डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश अवस्थी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, निदेशक सूचना शिशिर, सूचना सलाहकार मृत्‍युंजय कुमार समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।