चेक बाउंस में मामला, राजपाल यादव दोषी करार

अभिनेता राजपाल यादव, पत्नी राधा राजपाल यादव और उनकी वंâपनी को चेक बाउंस के सात मामलों में २३ अप्रैल को सजा सुनाई जाएगी। कड़कड़डूमा अदालत के अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश अमित अरोड़ा ने फिल्म बनाने के नाम पर पांच करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले में उन्हें शुक्रवार को दोषी करार दिया था। शिकायतकर्ता के वकील एसके शर्मा ने भी इसकी पुष्टि की है।
बात दें कि नई दिल्ली के लक्ष्मी नगर स्थित मुरली प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड ने अप्रैल २०१० में सात चेक बाउंस होने पर प्रीत विहार थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी। शिकायतकर्ता ने कहा था कि राजपाल यादव ने ‘अता-पता-लापता’ फिल्म बनाने के लिए पांच करोड़ रुपए उधार लिए थे। दो नवंबर २०१२ को यह फिल्म रिलीज भी हो गई, लेकिन उन्होंने उधार लिए पैसे नहीं चुकाए। इस मामले में राजपाल यादव को कोर्ट में पेश होने के लिए कई समन भी भेजे गए, लेकिन वह एक बार भी कोर्ट नहीं पहुंचे। उनके वकील ने भी कोर्ट में गलत हलफनामा पेश किया था। इसी मामले में वर्ष २०१३ में राजपाल यादव को १० दिन की न्यायिक हिरासत में भी भेजा गया था।