" /> चैंपियन सस्पेंड

चैंपियन सस्पेंड

ये एक उल्लंघन है और इसकी सजा भी कड़ी है। इसमें हो सकता है कोई खिलाड़ी अपने करियर को ही बर्बाद कर दे। जी हां, महिलाओं की ४०० मीटर रेस की वर्ल्ड चैंपियन सलवा ईद नासेर को डोपिंग परीक्षण के लिए खुद को उपलब्ध नहीं कराने की वजह से फ़िलहाल अस्थायी तौर पर सस्पेंड कर दिया गया है। ‘एथलेटिक्स इंटिग्रिटी यूनिट’ ने बहरीन की इस धाविका पर अपने रहने के स्थान के बारे में जानकारी नहीं देने का आरोप लगाया है। नासेर अगर दोषी पायी गयी तो वह अगले साल होने वाले ओलंपिक से बाहर हो सकती हैं। नासेर ने पिछले साल अक्टूबर ४८.१४ सेकंड के समय के साथ विश्व खिताब जीता था। यह १९८५ के बाद से किसी भी महिला द्वारा लिया गया सबसे कम समय है। खिलाड॰ियों को अपने रहने के पते की जानकारी समय-समय पर देनी होती है ताकि प्रतियोगिता से बाहर औचक परीक्षण करने के लिए उनके नमूने लिये जा सकें, लेकिन नासेर ने ऐसा नहीं किया और अब उनपर शक की सुईं जा रही है। बता दें सलवा ईद नासेर का जन्म नाइजीरिया में हुआ था लेकिन वो बहारीन में बस गईं और उसके बाद उन्होंने इस्लाम अपना लिया। साल २०१५ में नासेर ने ११.७० सेकेंड में १०० मीटर रेस जीतकर नेशनल जूनियर रिकॉर्ड तोड़ा था. २०१७ वर्ल्ड चैंपियनशिप में नासेर ने दूसरा स्थान हासिल किया। जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में नासेर ने गोल्ड जीता। पिछले साल कतर में हुई वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी नासेर गोल्ड जीती थीं।