" /> चैलेंज लेने की आदत है!-रोहित शेट्टी

चैलेंज लेने की आदत है!-रोहित शेट्टी

सफल निर्देशकों की सूची में अपना नाम दर्ज करवानेवाले रोहित शेट्टी ने अपना करियर फिल्म ‘फूल और कांटे’ में सहायक निर्देशक के रूप में शुरू किया था, लेकिन उन्हें प्रसिद्धि कॉमेडी फिल्म ‘गोलमाल फन अनलिमिटेड’ से मिली। रोहित बचपन से ही निर्देशक बनना चाहते थे और माता-पिता ने उन्हें सहयोग दिया। आज वे कामयाब हैं और इसका श्रेय अपने परिवार को देते हैं। इस समय रोहित शेट्टी ‘कलर्स’ टीवी पर ‘फियर फैक्टर- खतरों के खिलाड़ी’ के १०वें सीजन को होस्ट कर रहे हैं। पेश है रोहित शेट्टी से पूजा सामंत की हुई बातचीत के प्रमुख अंश-

स्टंट करना आपके लिए कितना मुश्किल है, जबकि शो में कीड़े-मकोड़े और जानवर भी होते हैं?
बचपन से मैंने तरह-तरह के स्टंट किए हैं और किसी भी स्टंट को करना मुश्किल नहीं लगता। ये मेरा पैâमिली बिजनेस बन चुका है क्योंकि मेरे माता-पिता भी इसी क्षेत्र से जुड़े थे। मैं मशहूर स्टंट डायरेक्टर शेट्टी का बेटा हूं और उन्होंने स्टंट्स में महारत हासिल की थी। ‘फियर पैâक्टर- खतरों के खिलाड़ी’ की तैयारी में पूरा साल लग जाता है। इस शो में लाए गए जानवरों और कीड़े-मकोड़ों के हैंडलर्स होते हैं जो प्रोफेशनल होने के साथ-साथ उनके हाव-भाव भी समझते हैं। इन कीड़े-मकोड़ों और जानवरों को हम कहीं से भी उठाकर नहीं ले आते। कोई हादसा होने पर तुरंत उसका इलाज हो सके इसके लिए इंटरनेशनल सेफ्टी मेजर्स की पूरी टीम मेरे साथ होती है।
स्टंट करते वक्त क्या कभी आपको डर लगा?
शुरू-शुरू में मुझे डर लगता था लेकिन बाद में समझ आती गई कि इसे वैâसे करना है। सच कहूं तो मुझे डर हमेशा स्कूल के रिजल्ट से लगता था, स्टंट से नहीं क्योंकि बचपन से लगता था कि यही मेरा काम है। लेकिन अब तो चैलेंज लेने की आदत पड़ गई है।
स्टंट करते वक्त किस तरह की सोच आप रखते हैं?
स्टंट के समय शांत रहने की जरूरत होती है और काम पर पूरी तरह से कंसन्ट्रेट करना पड़ता है। कोई भी स्टंट आसान नहीं होता। आत्मविश्वास का होना सबसे अहम होता है।
फिल्मों में सफल होने के बावजूद टीवी शो करने की वजह?
टीवी पर जो दिखता है, वो पॉपुलर बन जाता है। यही वजह है कि सारे बड़े कलाकार इस माध्यम में काम करना पसंद करते हैं। इसके अलावा मेरे सफल होने में मीडिया का बहुत बड़ा योगदान है, जिसने मुझे लोगों तक पहुंचाया है।
आज की जेनरेशन को स्टंट बहुत पसंद आता है। आप उन्हें क्या संदेश देना चाहेंगे?
फिल्मों में स्टंट के पीछे पूरी प्लानिंग होती है। बिना सोचे-समझे इन्हें फॉलो न करें। इसके लिए बहुत बड़ी ट्रेनिंग होती है और सेफ्टी के लिए पूरी टीम मौजूद होती है। हमारा प्रोफेशन होने के बावजूद हम पूरी सावधानी बरतते हैं। ऐसे में यूथ को कभी भी इसे करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए।
आपकी फिल्म ‘सूर्यवंशी’ जल्द ही रिलीज होनेवाली है। बिजी स्टारों के साथ समय पर फिल्म पूरी करने का क्या राज है?
अब वो दौर नहीं रहा जब स्टार देर से सेट पर आया करते थे। अक्षय कुमार और अजय देवगन इतना फास्ट काम करते हैं कि फिल्म एक महीने में भी पूरी हो सकती है।