चौकीदार को इस्तीफा सौंपकर, साइकिल पर सवार हो गए भाजपा सांसद

चुनावी मौसम में राजनेताओं के पाला बदलने का दौर जारी है। इसी क्रम में टिकट कटने से नाराज यूपी के हरदोई से भाजपा सांसद अंशुल वर्मा सुबह पार्टी के प्रदेश कार्यालय में तैनात चौकीदार को इस्तीफा सौंपा था। इसके बाद दोपहर को सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में साइकिल की सवारी करने को तैयार हो गए। सपा के कद्दावर नेता आजम खान के साथ अंशुल वर्मा अखिलेश यादव से मिलने सपा के लखनऊ स्थित कार्यालय पहुंचे और औपचारिक तौर पर सपा का दामन थाम लिया। कहा जा रहा है कि वे गठबंधन की तरफ से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे।

गौरतलब है कि भाजपा से टिकट कटने से नाराज अंशुल वर्मा ने भाजपा के प्रदेश कार्यालय के बाहर तैनात चौकीदार को अपना इस्तीफा सौंप दिया था। अंशुल वर्मा का कहना था कि उन्‍होंने विकास किया है और विकास ही करेंगे। वे अंशुल थे और अंशुल ही रहेंगे, चौकीदार नहीं बनेंगे। अगर विकास ही मानक था तो मैंने क्षेत्र में २४ हजार करोड़ रुपए का विकास कार्य लेकर पहुंचा। सदन में भी मेरी उपस्थिति ९५ फीसदी थी। मेरा दोष यही था कि मैंने अपने समाज के लिए सिर उठाया। आज भाजपा का कोई पदाधिकारी मुझसे मिलने के लिए तैयार नहीं है। बता दें कि भाजपा ने इस बार हरदोई से जयप्रकाश रावत को उम्मीदवार बनाया है। गौरतलब है कि भाजपा ने अब तक जारी यूपी की ६१ प्रत्याशियों की सूची में १२ मौजूदा सांसदों के टिकट को काट दिया है। बाराबंकी, कुशीनगर, रामपुर, इटावा, बलिया, आगरा, फतेहपुर सिकरी, मिश्रिख, कानपुर, शाहजहांपुर, संभल और हरदोई के मौजूदा सांसदों को टिकट नहीं दिया है।