छोटे पर्दे को अलविदा कहना नामुमकिन – दिवजोत सबरवाल

छोटे पर्दे की चर्चित अदाकारा दिवजोत सबरवाल अब तक दर्जनों धारावाहिकों में अपनी बहुमुखी प्रतिभा से दर्शकों को रिझा चुकी हैं। इन दिनों उनका नया रूप देखने को मिल रहा है। हाल ही में शुरू हुए धारावाहिक ‘चोर पुलिस’ में, जो दर्शकों का मन मोहनेवाला है। इसमें वह पहली बार कॉमेडी का तड़का लगा रही हैं। प्रस्तुत है दिवजोत सबरवाल से सोमप्रकाश ‘शिवम’ की हुई बातचीत के प्रमुख अंश।

धारावाहिक चोर पुलिस में दर्शकों को क्या खास दिखाने की कोशिश की गई है?
इस धारावाहिक के माध्यम से टीवी दर्शकों को एक बेहतरीन मनोरंजन देने की हर संभव कोशिश की गई है। दरअसल, इस धारावाहिक में घर के सभी सदस्य चोर हैं लेकिन यह चोर चोरी अपने लिए नहीं बल्कि लोगों की भलाई के लिए करते हैं।
अब तक धारावाहिकों की दुनिया में आपका सफर वैâसा रहा है?
मैंने अब तक दर्जनों धारावाहिकों में काम किया है लेकिन मेरे प्रमुख किरदार निभाए हुए धारावाहिक हैं सुहानी स्वीट लड़की, पवित्र रिश्ता, प्यार का दर्द मीठा-मीठा, राजा की आएगी बारात, पलकों की छांव में व मिसेज कौशिक की पांच बहुएं इत्यादि।
सास-बहू के ड्रामे से निकलकर कॉमेडी का तड़का लगाना कितना मुश्किल मानती हैं?
वाकई बहुत मुश्किल होता है किसी को हंसा पाना। अब तक मैंने पैâमिली ड्रामों में रोनेधोने वाले धारावाहिकों में काम किया था लेकिन अब पहली बार इस तरह के किरदार के माध्यम से दर्शकों को हंसाने गुदगुदाने आ चुकी हूं। मुझे अपने सभी दर्शकों से उम्मीद रहेगी कि वह मुझे हमेशा की तरह इस बार भी प्यार दें।
क्या आप बड़े पर्दे की ओर भी रुख करना चाहेंगी?
क्यों नहीं, अगर मुझे यह अवसर मिलता है तो अवश्य बड़े पर्दे की ओर भी जाना चाहूंगी लेकिन छोटे पर्दे को अलविदा कह दूं ऐसा नामुमकिन होगा।

जन्मदिन: ९ जनवरी
जन्मस्थान: राउरकेला
कद: ५.२’
वजन: ५०किग्रा
पसंदीदा
अभिनेता: राजकुमार राव
अभिनेत्री: आलिया भट्ट