" /> जनता को नहीं भायी मोदी सरकार 2.0

जनता को नहीं भायी मोदी सरकार 2.0

-कई मीडिया हाउसेज के सर्वे का निष्कर्ष

*अब जनता ने बताई अपने ‘मन की बात’
* अधिकांश मोर्चे पर सरकार रही विफल
*केंद्र सरकार की लोकप्रियता में गिरावट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का कल एक साल पूरा हो गया। इस एक साल में देश की बहुसंख्यक जनता के समक्ष सरकार खरी नहीं उतर पाई है। देश में पीएम मोदी की लोकप्रियता में गिरावट आती जा रही है। ये जनता के ‘मन की बात है’। यह मन की बात जनता ने एक ऑनलाइन सर्वे में कही है। जनता के :मन की बात’ जानने के लिए मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक वर्ष की उपलब्धि को लेकर कुछ मीडिया हाउस ने ऑनलाइन सर्वे किया था। इस सर्वे में जनता ने मोदी सरकार के कार्यो पर नाराजगी जाहिर करते हुए अपने मन की बात जाहिर की है।
बता दें कि पीएम मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल कल पूरा हो गया। इस एक साल में सरकार ने क्या उपलब्धि हासिल की और जनता इन कार्यों से खुश है कि नहीं? इसको लेकर न्यूज 24, रिपब्लिक भारत, दैनिक जागरण और न्यूज इंडिया जैसे बड़े मीडिया हाउस ने ऑनलाइन सर्वे कराया था। इस सर्वे के जरिए मोदी सरकार को लेकर देशवासियों के ‘मन की बात’ भी जानने की कोशिश की गई। न्यूज 24 के सर्वे में 54 फीसदी लोगों ने कहा कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष खराब रहा, जबकि 41 फीसदी लोगों ने बेहतर बताया। न्यूज 24 के ऑनलाइन सर्वे में करीब डेढ़ लाख लोगों ने भाग लिया था। इसी तरह रिपब्लिक भारत के ऑनलाइन सर्वे में लोगों से पूछा गया था कि वे मोदी सरकार से संतुष्ट है या विपक्ष से? इस सर्वे में 57 फीसदी जनता ने अपने ‘मन की बात’ बताते हुए कहा कि वे विपक्ष से संतुष्ट है न कि मोदी सरकार से। इसके अलावा अखबार दैनिक जागरण के ऑनलाइन सर्वे में 66 फीसदी लोगों ने कहा कि वे मोदी सरकार के कामकाज से खुश नहीं हैं। इस सर्वे में 94 हजार से अधिक लोगों ने भाग लिया था। इस सर्वे में देश में बढ़ी बेरोजगारी और अर्थव्यवस्था के पाताल लोक में जाने से जनता नाराज दिखी। इस सर्वे से यह बात तो साफ है कि लोगों में पीएम मोदी की लोकप्रियता खत्म होती जा रही है। इसी तरह ऑन लाइन न्यूज इंडिया के सर्वे में 93 प्रतिशत लोगों ने मोदी सरकार के प्रदर्शन को खराब बताया। सिर्फ 7 प्रतिशत ही लोगों ने बेहतर बताया। अधिकांश लोगों का मानना है कि कप्तान की कुशलता की पहचान संकट के समय ही होती है। कोरोना काल के संकट में जनता ने यह देख लिया है कि मोदी सरकार पूरी तरह से विफल रही है। सर्वे में जनता ने अपने मन की बात के जरिए यह भी स्पष्ट कर दिया है कि देश को नई दिशा देने में मोदी सरकार नाकाम रही है।