" /> जब तक कोरोना संक्रमण से देश उबर नहीं जाता तब तक अयोध्या में कोई उत्सव नहीं-चंपत राय

जब तक कोरोना संक्रमण से देश उबर नहीं जाता तब तक अयोध्या में कोई उत्सव नहीं-चंपत राय

अयोध्या कोविड-19 का बुरा असर राम जन्मभूमि पर बननेवाले राम मंदिर पर भी पड़ता दिख रहा है। कोरोना संक्रमण काल के चलते राम मंदिर निर्माण कार्य शुरू होने में अभी और वक्त लग सकता है। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने तय किया है कि जब तक कोरोना संक्रमण से देश उबर नहीं जाता तब तक अयोध्या में कोई उत्सव नहीं आयोजित होगा। महामंत्री चंपत राय का कहना है कि साधु-संतों के साथ हुई वार्ता में ये तय किया गया है कि अयोध्या के संत कोरोना संक्रमण के रहते कोई उत्सव आयोजित नहीं करेंगे। लॉकडाउन चल रहा है। लॉक डाउन में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट सरकार के सभी निर्देशों का पालन कर रहा है। ऐसे में राम मंदिर निर्माण को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। ट्रस्ट चाहता है कि राम मंदिर का निर्माण उत्सव के साथ शुरू किया जाए लेकिन इसके लिए सबसे पहले कोविड-19 के संक्रमण को देश में समाप्त होना आवश्यक है। चंपत राय का कहना है कि सबसे पहले देश और समाज है, जब देश और समाज सुरक्षित रहेगा तो किसी भी तरीके के उत्सव को आयोजित किया जाना उचित होगा। लेकिन पूरा देश चाहता है कि अयोध्या में जल्दी ही राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो और लोग राम मंदिर में रामलला को देखें। लेकिन अभी देश की करोड़ों जनता को राम मंदिर का इंतजार करना होगा। चंपत राय ने ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपालदास, मुरारी बापू , महामंडलेश्वर अवधेशानंद, युगपुरुष परमानंद, स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती, गोविंद देव गिरी आदि संतों से विचार-विमर्श किया है। ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने 20 संतों से राय ली है। सभी का विचार है कि सबसे पहले देश और समाज है। ऐसे में राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू करना उचित नहीं है। ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने केंद्र सरकार के कार्यों की तारीफ की है। चंपत राय का कहना है कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए देश में जो भी उचित उपाय किए जाने चाहिए थे उसे केंद्र सरकार ने किया है। भारत सरकार के निर्णय की तारीफ पूरी दुनिया करेगी। वहीं बिना नाम लिए तबलीगी जमात द्वारा देश में कोरोना संक्रमण के फैलाए जाने पर चंपत राय ने कहा कि कोई भी संप्रदाय का धर्मगुरु अपनी अनुयायियों की मृत्यु नहीं चाहता है, ऐसे में कुछ लोगों ने गलती की है और उनकी गलतियों की सजा देने का काम सरकार करेगी। चंपत राय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लॉकडाउन ने सारे देश के सहयोग की भी प्रशंसा की है। चंपत राय का कहना है कि देश में अलग-अलग धर्मों के लोग रहते हैं और सभी लोग बहुत अच्छे हैं।