" /> जब भिड़ गए माही!

जब भिड़ गए माही!

महेंद्र सिंह धोनी किसी भी परिस्थिति में मैदान पर एकदम शांत बने रहते हैं। मगर कई बार धोनी भी मैदान पर गुस्सा हुए हैं। एक ऐसी ही घटना के बारे में ऑस्ट्रेलियाई अंपायर डेरेल हार्पर ने बताया है। हार्पर ने बताया कि किस तरह तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार के डेब्यू टेस्ट मैच में धोनी उनसे नाराज हो गए थे। हार्पर ने एशियानेट न्यूजेबल से बातचीत में २०११ के उस टेस्ट मैच का जिक्र किया, जिसमें प्रवीण कुमार ने डेब्यू किया था। इसी मुकाबले में विराट कोहली का भी टेस्ट डेब्यू हुआ था। २०११ में वेस्टइंडीज के खिलाफ किंग्स्टन टेस्ट के दौरान युवा गेंदबाज प्रवीण कुमार को पिच पर डेंजर एरिया में बार-बार पैर रखने के चलते गेंदबाजी से बैन कर दिया गया। तब टीम के कप्तान धोनी हार्पर के इस फैसले से नाराज से हो गए थे। हार्पर ने बताया कि जब मैंने धोनी को बताया कि प्रवीण इस मैच में गेंदबाजी नहीं कर पाएंगे, तब उन्होंने मुझसे कहा था कि हमें आपसे पहले भी परेशानी हो चुकी है। मैं मन ही मन में हंसता रहा क्योंकि मेरी बात की मुझे सम्मानजनक प्रतिक्रिया नहीं मिली थी। धोनी का कहना था कि प्रवीण का डेब्यू टेस्ट होने के कारण अंपायर को कुछ नरमी दिखानी चाहिए। वहीं, हार्पर ने कहा कि प्रवीण इससे पहले ५० वन-डे मैच खेल चुके थे और उन्हें क्रिकेट के नियमों के बारे में अच्छे से पता होना चाहिए। प्रवीण ने उस मैच में कुल छह विकेट लिए और भारत ने तब ६३ रन से मैच जीता था।