" /> जांबाज जवान!

जांबाज जवान!

चलती ट्रेन में चढ़ना या उतरना खतरनाक है। रेलवे स्टेशनों पर रेलवे द्वारा ऐसी उदघोषणाएं लगातार की जाती हैं। इसके बावजूद लोग लापरवाही या हड़बड़ी में चलती ट्रेन में चढ़ने या उतरने का प्रयास करते हैं और प्राय: इस प्रयास में लोग दुर्घटनाग्रस्त होकर अपनी जान गंवा देते हैं। कल यानी २८ जुलाई को ऐसी ही एक घटना कल्याण रेलवे स्टेशन पर देखने को मिली, जहां एक बाप-बेटे प्लेटफॉर्म से छूट चुकी लंबी दूरी की ट्रेन से उतरने के प्रयास में गिर पड़े। यह दृश्य देखकर वहां खड़े अन्य यात्रियों की सांसे अटक गई थीं लेकिन प्लेटफॉर्म पर मौजूद एमएसएफ के जवान ने ऐन वक्त पर हिम्मत दिखाई और अपनी जान पर खेलकर उन दोनों को बचा लिया। बता दें कि ५२ वर्षीय दिलीप मांडगे नामक यात्री को अपने बेटे के साथ वाराणसी जानेवाली कामायनी एक्सप्रेस ट्रेन से सफर करना था। कामायनी में उनकी एस-११ कोच में सीट आरक्षित थी। लेकिन गलती से बाप-बेटे कामायनी एक्सप्रेस ट्रेन की बजाय पवन एक्सप्रेस में सवार हो गए। उन बाप-पूत को अपनी गलती का एहसास तब हुआ जब ट्रेन प्लेटफॉर्म से रवाना हो रही थी। हड़बड़ी में दोनों बाप-बेटे सामान सहित चलती ट्रेन से कूद गए। इस प्रयास में वे खतरनाक ढंग से प्लेटफॉर्म और पटरी के बीच गिरने ही वाले थे, तभी वहां मौजूद एमएसएफ जवान सोमनाथ महाजन ने बिजली की फुर्ती से अपनी जान की परवाह किए बिना दौड़ लगाकर उन्हें बचा लिया। इस घटना का वीडियो कल सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद लोग एमएसएफ जवान सोमनाथ की प्रशंसा कर रहे हैं।