जामिया कैंपस में मुस्‍लिम बस्तियों के बच्चे भी सीख रहे योग

गुजरात के अमदाबाद के मुस्लिम बहुल इलाके और अतिसंवेदनशील माने जाते जुहापुरा के एफडी स्कूल के बच्चों ने मंगलवार सुबह योग किया। यहां योग और प्राणायाम में करीब ५०० बच्चे शामिल रहे। बच्चों में योग को लेकर जबरदस्त जोश और जज्बा देखने को मिला। इस दौरान सबसे बेहतर योग करने को लेकर बच्चों में होड़ देखने को मिली। अमदाबाद के मुस्लिम बहुल इलाके के इस स्कूल में बच्चे उस समय योग कर रहे हैं, जब अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की तैयारियां जोरों पर हैं।

योग के लिए कहा जाता है कि इसका मजहब से कोई लेना-देना नहीं है। किसी का धर्म कोई भी हो, लेकिन योग से कोई मतलब नहीं है। इसका सबूत जुहापुरा के एफडी स्कूल में योग करते बच्चे हैं। ये बच्चे योग के जरिए खुद के स्वास्थ को बेहतर बना रहे हैं। दरअसल, अब अहमदाबाद के एफडी स्कूल के ये बच्चे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर रिवर प्रâंट पर योग करेंगे।

कक्षा ९वीं की छात्रा तमन्ना मिर्जा का कहना है कि योग करने से हमें काफी अच्छा महसूस होता है। हम योग करके टेंशन प्रâी हो जाते हैं। वहीं, १०वीं कक्षा के छात्र मारुक का कहना है कि योग से जीवन अच्छा होता है और पढ़ाई में भी काफी एकाग्रता आती है। आपको बता दें कि एफडी स्कूल पिछले पांच साल से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके समूहिक योग का आयोजन करता है। यहां पर योग सप्ताह भी मनाया जाता है और पूरे हफ्ते योग कराया जाता है। छात्र भी इस योग सप्ताह में काफी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।