" /> जावेद को बचाने में  डूब गया सिद्दीक, २४ घंटे बाद मिला शव

जावेद को बचाने में  डूब गया सिद्दीक, २४ घंटे बाद मिला शव

भिवंडी नदीनाका क्षेत्र स्थित कामवारी नदी में नहाते समय पानी में डूब रहे युवक को बचाने का प्रयास एक ५० वर्षीय व्यक्ति के लिए जानलेवा सिद्ध हुआ। नदी के तेज बहाव में बह गए उक्त अधेड़ का शव २४ घंटे के बाद स्थानीय बंदर मोहल्ला इलाके में बरामद हुआ है।
पुलिस के अनुसार भिवंडी के कामवारी नदी में मंगलवार को दोपहर के समय २५ वर्षीय जावेद शेख नहाने गया था। नदी में तेज बहाव होने के कारण वह पानी मे नहाते समय डूबने लगा। उसे डूबते देख ५० वर्षीय सिद्दीक शेख व एक अन्य व्यक्ति उसे बचाने के लिए नदी में कूद गए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जावेद को तो उन दोनों ने बचा लिया लेकिन पानी का बहाव तेज होने के कारण सिद्दीक शेख पानी में बह गया, जिसकी सूचना मिलने पर निजामपुर पुलिस व अग्निशमन दल के जवान मौके वारदात पर पहुंचकर उसकी तलाश शुरू की। पांच घंटे के अथक प्रयास के बाद भी पानी में बहे व्यक्ति का कुछ पता नहीं चला और रात हो गई, जिसके कारण तलाश कार्य रोकना पड़ा। दूसरे दिन बुधवार को काफी खोजबीन के बाद भोईवाड़ा पुलिस स्टेशन की हद के बंदर मोहल्ला में सिद्दीक के शव को पुलिस ने बरामद कर शव को निजामपुर पुलिस के सुपुर्द कर दिया। पुलिस ने इसे आकस्मिक मौत का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बता दें कि बारिश के शुभारंभ के बाद पानी में डूबकर मरनेवालों की संख्या अब तक तीन हो गई है।
गौरतलब है कि कामवारी नदी में इन दिनों बारिश के कारण पानी का बहाव ज्यादा है। नदी के आस-पास स्लम बस्ती होने व नदी के किनारे सुरक्षा का अभाव होने के कारण स्थानीय लोग बेखौफ होकर नदी में नहाने जाते हैं, जिसके कारण हर वर्ष इस नदी में डूबकर मरनेवालों की घटना में वृद्धि होती है लेकिन मनपा प्रशासन व पुलिस प्रशासन इसे रोकने में नाकाम हैं।