जिन प्रावधानों को नेहरू-इंदिरा ने नहीं हटाया वह राहुल हटाना चाहते हैं- जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस के लोकसभा चुनाव 2019  के मद्देनजर जारी घोषणा पत्र को देश को तोड़ने वाला बताया है। अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में देशद्रोह कानून को हटाने की बात की गई है। देश को तोड़ने वाले ऐसे वादे करने वाली कांग्रेस एक वोट की भी हकदार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने नियमों और कानूनों की समीक्षा करने की घोषणा की है। माओवादियों को बचाने के लिए सीआरपीसी में बदलाव की बात की गई है।

अरुण जेटली ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में सेना और सीआरपीएफ सैनिकों की तैनाती में कमी के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अफस्पा के प्रावधान कमजोर करने की बात भी कही है। जेटली ने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में खतरनाक वादे किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिन नियमों को पंडित नेहरू और इंदिरा गांधी ने नहीं हटाया, उन्हें राहुल गांधी हटाने की बात कर रहे हैं।

अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व कर रहे राहुल गांधी जिहादियों और माओवादियों के चंगुल में है। कांग्रेस ने घोषणा पत्र में कहा है कि आईपीसी  से सेक्शन 124-A (देशद्रोह कानून) को हटा दिया जाएगा। इसका सीधा मतलब है कि कांग्रेस के राज में देशद्रोह करना अपराध नहीं होगा। जो पार्टी ऐसी घोषणा करती है, वो एक भी वोट की हकदार नहीं है।