जीरो महसूस करना अच्छा है

बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा अपनी बेबाक टिप्पणी के लिए जानी जाती हैं। विराट कोहली से शादी के बाद तो उनके हर कार्य की चर्चा मीडिया में छाई रहती है। इस समय अनुष्का सुर्खियों में हैं शाहरूख खान के साथ अपने करियर की चौथी फिल्म `जीरो’ को लेकर। आनंद राय के निर्देशन में बनी इस फिल्म के कई मुख्य आकर्षण हैं। बौने के किरदार में शाहरूख खान और उनके लव इंटरेस्ट में हैं अनुष्का और कटरीना कैफ। कई मुद्दों पर अनुष्का शर्मा से पूजा सामंत की गुफ्तगू हुई। प्रस्तुत है बातचीत के प्रमुख अंश-
कैसा रहा आपके लिए वर्ष २०१८? 
२०१७ में मेरी शादी हुई। आम और खास सभी के लिए शादी की अहमियत तो होती ही है लेकिन फिर भी मेरी २०१८ यानी इस वर्ष में ३ बड़ी फिल्में रिलीज हुई। २१ दिसंबर को `जीरो’ रिलीज होगी। अभी पिछले महीने ही `सुई-धागा’ रिलीज हुई तो उससे पहले `संजू’ रिलीज हुई।  एक वर्ष में ३ बड़ी फिल्में और वो भी डायवर्स किरदारों के साथ, यह मेरे लिए ड्रेनिंग एक्सीपिरियंस था लेकिन मेरे परफार्मेंस की बहुत सराहना हुई।
 `जीरो’ में  दिव्यांग का किरदार  निभाने में क्या मुश्किलें आर्इं? 
आफिया (किरदार का नाम) को सेरेब्रल पाल्सी है। इसमें इंसान दिव्यांग हो जाता है। व्हील चेयर पर बैठकर दिव्यांग का संवाद बोलने में बहुत कठिनाई हुई। मैंने ऑक्युपेशनल थेरपिस्ट व डॉक्टरों से भी इस रोल के लिए सलाह ली।
शाहरूख खान के साथ काम करने अनुभव कैसा रहा? 
मेरा करियर ही शाहरूख खान के साथ फिल्म `रब ने बना दी जोड़ी’ के साथ शुरू हुआ था। वे बहुत सुलझे हुए इंसान हैं, उनमें गुरूर नहीं है।
 आपके जीवन में कभी किसी ने आपका मूल्यांकन `जीरो’ कर दिया हो?
जब मैंने मॉडलिंग से अभिनय में कदम रखा तो वह दौर इस विश्वास पर चलता था कि मॉडल्स कभी अच्छे एक्टर्स नहीं बन सकते। मैंने यशराज में जब `रब ने बना दी जोड़ा’ के लिए ऑडिशन दिया तो कुछ लोगों ने कहा कि  मॉडल्स को एक्टिंग कहां आती है? लेकिन ऑडिशंस के बाद मेरा परफॉर्मेंस अच्छा लगा और मुझे काम मिल गया। मुझे `जीरो’ साबित करने की कोशिश गलत साबित हुई।
 `जीरो’ महसूस होना वैâसा लगा आपको?
 फिल्म इंडस्ट्री ही नहीं बल्कि कई बार परिवार में, दोस्तों में, स्कूल-कॉलेज में आपका टैलेंट जब तक दुनिया के सामने नहीं आता तो लोग आपको `जीरो’ साबित करने पर तुले हुए होते हैं। खुद को `जीरो’  महसूस करना अच्छा है। फीनिक्स पक्षी राख से निकलकर आसमान छू लेता है।
 आपने शादी के उपरांत आपके फिल्म करियर  विराट कोहली से कितना सपोर्ट है आपको? 
उनके क्रिकेट के प्रोफेशन में उनके निर्णय वो लेते है, मेरे क्षेत्र के सारे निर्णय मेरे अपने होते हैं। एक-दूसरे के प्रोफेशंस का आदर करना हमारे रिश्ते का विश्वास है, यह कायम रहेगा।