जीवनतंत्र: दूध का किस्मत कनेक्शन

 मान्यताओं के अनुसार सूर्यास्त के बाद दूध पीना धन की हानि करवाता है। यह शुभ शगुन नहीं माना गया है। ऐसी मान्यता है कि इससे धन टिकता नहीं है और रोग तथा दूसरे अन्य कारणों से धन का व्यय होता चला जात है।
 शाम ढलने के बाद किसी को लहसुन, प्याज नहीं देना चाहिए।
 अगर आपको आर्थिक नुकसान हो रहा है तो घर की पूजा-स्थल पर सिद्ध श्रीयंत्र स्थापित करें और हर रोज सुबह शाम धूप व गाय के घी का दीपक जलाएं। इस उपाय को करने से जल्द ही आपकी आर्थिक समस्या दूर होगी।
 यदि आपको लगातार धन हानि हो रही है, तो पूर्णिमा के दिन तीन सफेद फूल नदी में प्रवाहित करें। सोमवार को बबूल के पेड़ की जड़ में दूध अर्पित करें। इन उपायों से अशुभ ग्रहों के प्रभाव दूर होते हैं और आय में वृद्धि का शुभ संयोग बनता है।
 शनिवार के दिन घर में लोहा और लोहे से बनी चीज नहीं लाना चाहिए वर्ना शनि नाराज होते हैं।

..तो लाभ तय है!
यदि आपका बिजनेस ठीक नहीं चल रहा और आपको लगता है कि उसे किसी की नजर लग गई है तो ये उपाय आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा। इसके लिए आपको अमावस्या या शनिवार की सुबह एक नींबू लेना है और उसके चार टुकड़े करना है। इसके बाद थोड़ी सी पीली सरसों, २१ काली मिर्च व ७ लौंग लेकर बिजनेस वाले स्थान पर कहीं भी रख दें। फिर शाम के वक्त इन सभी चीजों को काले कपड़े में बांधकर किसी सूखे कुंए में फेंक दें, जिसमें पानी न हो।
हर महीने इस उपाय को करने से व्यापार पर लगी नजर और सभी तरह की बाधा दूर होगी और आपका व्यापार चलने लगेगा। हल्दी की ७ साबुत गाठें, ७ गुड़ की डली, एक रुपए का सिक्का लें। इन तीनों चीजों को गुरुवार को पीले कपड़े में बांधकर रेलवे लाईन के पार फेंक आएं। जब आप इसे फेंक रहे हों, तब अपनी उस इच्छा को बोलें जिसकी पूर्ति नहीं हो पा रही या बाधा आ रही हो। ऐसा करने से बिना किसी बाधा के आपकी मनोकामना पूरी हो जाएगी।
घर से निकलते समय पहले विपरीत दिशा में ४ कदम जाएं, इसके बाद कार्य पर चले जाएं, ऐसा करने से आपका कार्य जरूर बनेगा।
परिवार में सुख-शांति और समृद्धि चाहते हैं तो प्रतिदिन प्रथम रोटी के चार बराबर भाग करें और इन चारों भागों को एक-एक कर क्रमश: गाय को, दूसरा काले कुत्ते को, तीसरा कौए को और चौथा चौराहे पर रख दें। ऐसा करने से घर में सुख शांति बनी रहेगी और समृद्धि आएगी।

घर का वैद्य
१) आंवला के जूस में एलोवेरा का जूस मिलाकर सुबह गर्म पानी में लेने से पेट साफ होता है, एनर्जी मिलती है, बाल और आंखें भी अच्छे हो जाते हैं।
२) सिर दर्द के लिए देसी घी में बनी हुई ३ से ५ जलेबी एक ग्लास दूध के साथ लेना फायदेमंद होता है। गाय के दूध के साथ १ चम्मच बादाम रोगन लेने से भी सिर दर्द में फायदा मिलता है। माइग्रेन के दर्द में भी आराम मिलता है। बादाम रोगन का तेल नाक में भी डाल सकते हैं।
३) शीशम, नीम और तुलसी के पत्ते सुबह खाली पेट खाना काफी फायदेमंद होता है। इससे डायबिटीज कंट्रोल में रहती है, खून साफ होता है और कई गंभीर बीमारियां कोसों दूर रहती हैं। नीम के पत्ते खाने से शरीर में होने वाली खुजली में भी राहत मिलती है। खीरा, करेला टमाटर का जूस, और गिलोय के पत्ते खाने से डायबिटीज कंट्रोल होगी।
४) जुकाम, नजला हो तो १०० ग्राम बादाम, २० ग्राम काली मिर्च और ५० ग्राम खांड एक चम्मच, रात को गरम दूध के साथ लेना काफी फायदेमंद होता है।
५) वात रोगों के लिए हल्दी, मेथी, सोंठ का पाउडर, का सेवन करना चाहिए। यह आर्थराइटिस के दर्द में भी राहत पहुंचाता है। यह नुस्खा अगर गर्मी कर रहा है, तो इसमें एलोवेरा का जूस मिला दें। इससे एसिडिटी, गर्मी और जोड़ों का दर्द तीनों ठीक हो जाता है