ठग्स ऑफ मुंबई! फिल्मी हस्तियों और नेताओं को बनाते थे निशाना

अच्छे दिन का झांसा देकर सत्ता में आई मोदी व फडणवीस सरकार के राज्य में ठगों एवं जालसाजों की बल्ले-बल्ले हो गई है। पहले मुंबई और आसपास के इलाके में लोग एटीएम-ऑनलाइन फ्रॉड के साथ-साथ नौकरी व घर दिलाने के नाम पर ठगों का शिकार बन रहे थे। लेकिन अब हालात ऐसे हो गए हैं कि ठग निवेश के नाम पर फिल्मी हस्तियों को चूना लगाने लगे हैं। इतना ही नहीं नेताओं व सीबीआई अधिकारी बनकर ठगी करने से भी लोग बाज नहीं आ रहे हैं।
बता दें कि वर्ष २०१३ में आई फिल्म ‘स्पेशल- २६’ की तर्ज पर सीबीआई अधिकारी बने दो ठगों द्वारा एक शख्स को एनकाउंटर की धमकी देकर ५० लाख रुपए तथा इनोवा कार ठग लेने का मामला सामने आया था। चारकोप इलाके में क्रेडिट सोसाइटी चलानेवाले शख्स से ठगी करनेवाले अश्विनी व साजिद नामक उक्त फर्जी सीबीआई अधिकारियों को मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया था। इसी तरह कांग्रेसी सांसद हुसैन दलवाई ईमेल एकाउंट हैक करके चंदा मांगनेवाले नाइजेरियन ठगों को मुंबई पुलिस की साइबर क्राइम यूनिट ने गिरफ्तार किया था, वहीं शिवसेना सांसद के नाम का दुरुपयोग कर दिव्यांगों को ह्वील चेयर बांटने के बहाने व्यापारियों से चंदा राजेश कृष्ण मिश्रा (६५) तथा सिद्धेश सुधाकर सामंत को ठाणे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी मुंबई विधायकों की आवाज में लोगों से चंदा वसूलते थे, जबकि फिल्म निर्माण में निवेश एवं अन्य मदद दिलाने के बहाने भोजपुरी फिल्मों के १२० से ज्यादा निर्माताओं को लाखों रुपए का चूना लगानेवाले दुर्गेश राजबहादुर सिंह को ओशिवरा पुलिस ने नोएडा से गिरफ्तार किया है।