ठाणेकरों का भी प्रॉपट्री टैक्स होगा माफ, उद्धव ठाकरे का आश्वासन

मनपा चुनाव के दौरान ५०० वर्गफुट के मकानों का प्रॉपर्टी टैक्स माफ करने का जो वचन हमने दिया था, इसकी पूर्ति मुंबई में हो चुकी है। मुंबई की ही तरह ठाणेकरों के भी ५०० वर्गफुट तक के मकानों का प्रॉपर्टी टैक्स माफ करके रहूंगा। जो वचन दिया है, उसे पूरा करूंगा। इन शब्दों में शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने ठाणेकरों को आश्वस्त किया। शिवसेनापक्षप्रमुख कल ठाणे लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के शिवसेना-भाजपा-आरपीआई महायुति के प्रत्याशी राजन विचार की भव्य सभा में बोल रहे थे।
जवानों के शौर्य पर राजनीति करना गलत है। जो जवान सीमा पर लड़ते हैं, उनके शौर्य पर शंका करते हुए क्या तुम्हें शर्म नहीं आती? इन कड़े शब्दों में शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल विपक्ष से सवाल किया। इसके साथ ही उन्होंने राकांपा पर भी कटाक्ष किया।
ठाणे लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के शिवसेना-भाजपा महायुति प्रत्याशी राजन विचारे के प्रचारार्थ महायुति की भव्य सभा कल मनपा मुख्यालय के समीप आयोजित की गई थी। सभा को संबोधित करते हुए शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे विपक्ष पर जमकर गरजे। उन्होंने राकांपा पर टिप्पणी करते हुए कहा कि तुम्हारा सेनापति माढा लोकसभा सीट छोड़कर भाग गया, उसे भागने में शर्म नहीं आई क्या? इशरत जहां के घर जानेवाले हमारे जवानों के शौर्य पर शंका करते हैं। जवान लड़ते हैं, उन्हें हिम्मत देने का काम देश के प्रधानमंत्री कर रहे हैं। भगवा की निष्ठा के लिए ही हमने भाजपा के साथ युति की है। सभा में उपस्थित जनसमुदाय की ओर इशारा करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि खुद की परवाह न करते हुए, दिन-रात मेहनत करनेवाले आप जैसे शिवसैनिक मेरे साथ हैं, इसलिए मैं हर चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहता हूं। शिवसैनिकों का मुझ पर विश्वास है और इस विश्वास में मैं दरार पड़ने नहीं दूंगा। ठाणे के संदर्भ में बोलते हुए उन्होंने कहा कि ठाणे सिर्फ ठाणे नहीं, मेरा ठाणे है। संकट के समय भी ठाणेकर मेरे साथ मजबूती से खड़े रहे हैं। ठाणे में शिवसेना की घुड़दौड़ इसी तरह जारी रहेगी और ठाणे में एक बार फिर राजन विचारे सांसद के रूप में चुनकर आएंगे, ऐसा विश्वास जताते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख श्री बालासाहेब ठाकरे का ठाणे से एक अटूट नाता रहा है। उन्होंने कहा कि हम सिर्फ हवा में बातें नहीं करते, जो बोलते हैं, वो करके दिखाते हैं। हमने जो विकास कार्य किए हैं, उसके कार्य वृत्तांत मौजूद हैं। विपक्ष को उसे पढ़ने आना चाहिए। कुछ लोग घूम-घूमकर यह कह रहे हैं कि शिवसेना-भाजपा को वोट मत दो तो फिर वोट किसे दो? यह नहीं बता रहे हैं। इनके पास न तो दिशा है और न ही इनकी दशा है, सिर्फ दुर्दशा हो रही है, ऐसा कटाक्ष भी उद्धव ठाकरे ने किया।