" /> ठाणेकरों से हारता कोरोना!, जिले की २०३ ग्राम पंचायतें कोरोनामुक्त

ठाणेकरों से हारता कोरोना!, जिले की २०३ ग्राम पंचायतें कोरोनामुक्त

राज्य सरकार द्वारा लागू की गई राज्य व्यापी मुहिम `मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ को ठाणे जिले में प्रभावी तरीके से लागू किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण को पैâलने से रोकने के लिए पूरी मशीनरी दिन-रात काम में जुटी हुई है। बेहतर उपाय योजनाओं के चलते ही जिले की २०३ ग्रामपंचायतों को कोरोनामुक्त घोषित कर दिया गया है। मतलब ठाणेकरों से कोरोना हारता हुआ दिखाई दे रहा है। `मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ मुहिम के परिपूर्ण नियोजन हेतु जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हीरा लाल सोनवणे के मार्गदर्शन में एक बैठक का आयोजन किया गया था। बैठक में अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. रुपाली सातपुते, उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी (प्रशासन) डी वाई जाधव सहित जिले के विभाग प्रमुख तथा तहसील प्रमुख मौजूद रहे।

जिला परिषद कार्यालय में हुई इस बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी हीरा लाल सोनवणे ने बताया कि कोरोना संक्रमण को पैâलने से रोकने के लिए इस समय जिला परिषद के माध्यम से सर्वोत्तम उपाय योजनाओं को लागू किया जा रहा है। `मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ मुहिम को प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियोजन किया जा रहा है। बैठक के दौरान सोनवणे ने सभी अधिकारियों से उपाय योजनाओं की जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। बैठक में मौजूद जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष रेंगें ने कोरोना पर नियंत्रण के लिए लागू की गई उपाय योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण को पैâलने से रोकने के लिए जिला प्रशासन की पूरी मशीनरी दिन-रात काम कर रही है। जिले का रिकवरी रेट ७९.८५ प्रतिशत है। १० हजार ८४२ संक्रमित मरीजों में से ८ हजार ६५८ मरीज संक्रमणमुक्त होकर घर जा चुके हैं। पिछले २८ दिनों से २०३ ग्रामपंचायतों में एक भी कोरोना के मरीज नहीं मिले हैं लिहाजा २०३ ग्रामपंचायतों को कोरोनामुक्त घोषित किया जा चुका है।