" /> ठाणेकर ठान लें तो १५ दिनों में कर देंगे कोरोना की छुट्टी!, मनपा आयुक्त विजय सिंघल ने फेसबुक के माध्यम से साधा संवाद

ठाणेकर ठान लें तो १५ दिनों में कर देंगे कोरोना की छुट्टी!, मनपा आयुक्त विजय सिंघल ने फेसबुक के माध्यम से साधा संवाद

ठाणे मनपा आयुक्त विजय सिंघल ने ठाणेकरों से फेसबुक के माध्यम से संवाद साधते हुए विश्वास जताया है कि यदि ठाणेकर ठान लें और सहयोग करें तो अगले १० से १५ दिनों में शहर में कोरोना की छुट्टी की जा सकती है।

सोमवार को ठाणेकरों के साथ फेसबुक लाईव के माध्यम से आयुक्त सिंघल ने बोलते हुए झोपड़पट्टी परिसर में मरीजों की संख्या बढ़ने की बात कही, वहीं दूसरी तरफ उन्होंने ठीक हो रहे मरीजों की संख्या पर संतोष जताया। उनके अनुसार देश और राज्य की तुलना में ठाणे में कोरोना से मरनेवालों की संख्या कम है। शहर में लॉक डाउन के नियमों को शिथिल करने के बारे में बोलते हुए सिंघल ने कहा कि जरूरत पड़ने पर ही कोई घर से बाहर निकले और इस दौरान चेहरे पर मास्क अवश्य लगाएं तथा एक-दूसरे से कम से कम तीन फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें इसके साथ-साथ सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। आयुक्त ने लोगों से काम पर जाने और घर से निकलने के पहले खुद का तापमान और शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा को जांचने का आवाहन किया। सिंघल ने ५० वर्ष और उससे अधिक की आयु के लोगों तथा दस वर्ष और उससे कम आयु के बच्चों को घर में ही रहने की सलाह दी है।

ऑड और ईवन के तहत खुल सकती हैं दुकानें
सिंघल ने दुकानों को ऑड और ईवन की तर्ज पर खोले जाने की बात कही। यानी रास्ते के एक तरफ की दूकानें एक दिन और दूसरे तरफ की दुकानें दूसरे दिन खुलेंगी। रोग को नियंत्रण करने की दिशा में उठाए गए विभिन्न कदम और प्रयास जैसे झोपड़पट्टी परिसर में ५० फीवर क्लिनिक शुरू किए जाने, उसके जरिए १ हजार लोगों की टीम द्वारा घर-घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य का सर्वे करने तथा उनके द्वारा कंटेंमेंट जोन में भी सर्वे किए जाने की बात, झोपड़पट्टी में ड्रोन के जरिए नजर रखने, शहर में ८८ एम्बुलेंस को उपलब्ध कराने तथा उसकी संख्या को शीघ्र १०० करने, एक क्लिक पर कोविड अस्पतालों के बेड की जानकारी उपलब्ध होने, ग्लोबल इम्पैक्ट हब के जरिये एक हजार बेड के अस्पताल को जल्द कार्यांवित करने, म्हाडा की मदद से एक हजार बेड के अस्पताल का निर्माण करने, मनपा की तरफ घर-घर जाकर आर्सेनिक अल्बम होम्योपैथी की दवा लोगों को दिए जाने तथा शहर के अस्पतालों में ८ हजार बेड उपलब्ध होने की बात लोगों के सामने रखी।