ठाणे प्रभाग समितियों पर लहराया भगवा,  ९ में से ६ प्रभाग समिति पद पर शिवसेना का कब्जा

ठाणे महानगर पालिका के प्रभाग समितियों के अध्यक्ष पद पर भगवा का परचम लहराया है। ९ प्रभाग समितियों में से शिवसेना को ६ में जीत हासिल हुई है। इसमें दूसरी खास बात ये है कि ९ प्रभाग समितियों में से ७ पर महिलाएं सभापति के रूप में निर्विरोध चुनी गई हैं।
ठाणे महानगरपालिका की ९ प्रभाग समितियों में से ६ शिवसेना ने हासिल किए हैं तो दो राकांपा और एक पद भाजपा ने हासिल किया है। बता दें कि ठाणे महानगर पालिका की ९ प्रभाग समितियों के सभापतियों के नामांकन भरने की तिथि ८ जुलाई थी और आगामी महासभा में इसका चयन किया जाना था। शिवसेना की तरफ से नम्रता पमनानी (कोपरी), प्रज्ञा भगत (माजिवड़ा-मानपाड़ा), दीपाली भगत (दिवा), निर्मला कनसे (लोकमान्य-सावरकरनगर), शिल्पा वाघ (वागले इस्टेट) और नरेश सुरकर (वर्तकनगर) ने अपना नामांकन महापौर मीनाक्षी शिंदे, सभागृह नेता नरेश म्हस्के, स्थाई समिति सभापति राम रेपाले और गुट नेता दिलीप बारटक्के की मौजूदगी में भरा था। इन प्रत्याशियों के विरोध में विपक्षी पार्टियों द्वारा किसी भी नगरसेवक ने अपना नामांकन नहीं भरा। जिसके चलते सचिव अशोक बुरपुल्ले ने सभी को सभापति पद के लिए निर्विरोध घोषित कर दिया। इन प्रभाग समितियों के सभापति पद पर शिवसेना ने पांच महिलाएं, राष्ट्रवादी और भाजपा ने एक-एक महिलाओं को मौका दिया था। इस प्रकार कुल सात नगरसेविकाओं को इस बार सभापति पद पर आसीन होने का सम्मान मिला है। वहीं कुल नौ सभापतियों में से छह पर शिवसेना ने भगवा लहराकर अपना वर्चस्व कायम रखा है। उथलसर प्रभाग समिति के लिए दीपा गावंड (भाजपा) ने अपना नामांकन भरा, कलवा प्रभाग समिति के लिए जितेंद्र पाटील (राष्ट्रवादी कांग्रेस), मुंब्रा प्रभाग समिति के लिए अशरीन राऊत ने (राष्ट्रवादी कांग्रेस) अपना नामांकन भरा था। लेकिन इनके विरोध में अन्य कोई नामांकन नहीं आने के कारण सचिव अशोक बुरपुल्ले ने इन्हें निर्विरोध नियुक्त कर दिया।