" /> डबल डेकवाला होगा भाइंदर स्टेशन

डबल डेकवाला होगा भाइंदर स्टेशन

मध्य रेलवे का घाटकोपर स्टेशन और पश्चिम रेलवे का भाइंदर स्टेशन का विकास आगामी तीन साल में संभव होगा। मुंबई रेल विकास निगम ने भाइंदर और घाटकोपर स्टेशन के डेवलोपमेंट प्लान के नक्शे को फाइनल कर लिया है। इस प्लान के तहत पश्चिम रेलवे का भाइंदर स्टेशन डबल डेक वाला होगा। गौरतलब हैं कि भाइंदर स्टेशन पश्चिम रेलवे के भ़ीडभाड़ वाले स्टेशनों मे से एक है।
१० स्टेशन होंगे विकसित
मुंबई रेल विकास निगम को मध्य और पश्चिम रेलवे के १० स्टेशनों को विकसित करना है। इन स्टेशनों के विकास कार्यों पर कुल ९५० करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इसी परियोजना के तहत ही मध्य रेलवे का घाटकोपर और पश्चिम रेलवे का भाइंदर स्टेशन को विकसित किया जाएगा।
लाखों यात्री करते हैं सफर
मध्य रेलवे के घाटकोपर स्टेशन से रोजाना साढ़े तीन लाख यात्री और भाइंदर स्टेशन से रोजाना ८० हजार यात्री अपने सफर की शुरुआत करते हैं। एमआरवीसी के अधिकारियों का कहना है कि हम दोनों स्टेशनों पर यात्री सुविधा को बढ़ाने के लिए उचित कदम उठा रहे हैं।
घाटकोपर में बटेगी भीड़
एमआरवीसी के अधिकारी का यह भी कहना है कि घाटकोपर स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर २८० मीटर लंबा और ८.७ से १०.७ मीटर चौड़ा डेक बनाया जाएगा। योजना के अनुसार स्टेशन पर मौजूद बुकिंग कार्यालय को डेक पर ले जाया जाएगा। इसके अलावा ५२.५ मीटर का एक स्काइवॉक ही बनाया जाएगा। यह स्काइवॉक विक्रोली एफओबी और बीएमसी एफओबी को कनेक्ट करेगा। साथ ही इस स्काइवॉक को डेक से मेट्रो स्टेशन को भी कनेक्ट किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम विक्रोली की तरफ के ४.५ मीटर के एफओबी को तोड़कर १२ मीटर का बनाएंगे। इसके साथ ही हम बीच के एफओबी के बगल में एक और १२ मीटर का एफओबी बनाएंगे। इसके साथ ही विद्याविहार की तरफ के ८.५ मीटर के एफओबी को तोड़कर १२ मीटर का करने की योजना बना रहे हैं। एमआरवीसी के प्रबंध निदेशक आरएस खुराना ने कहा कि भाइंदर के प्लान को रेलवे बोर्ड भेजा गया है। घाटकोपर के प्लान को मध्य रेलवे में अनुमति के लिए भेजा गया है। अनुमति मिलने के बाद इन स्टेशनों के विकास कार्य के कामों को शुरू कर दिया जाएगा।
२ डेकवाला होगा भाइंदर स्टेशन
मुंबई रेल विकास निगम के अधिकारी के अनुसार योजना के मुताबिक विरार स्टेशन की दिशा में मौजूद २ एफओबी को जोड़ते हुए ४७ मीटर लंबा और २३ मीटर चौड़ा एक डेक बनाया जाएगा। इसके साथ ही हम ईस्ट की तरफ २४० मीटर लंबा और १७ मीटर चौड़ा एक और डेक बना रहे हैं, जो सभी एफओबी को एक दूसरे से कनेक्ट करेगा। उन्होंने बताया कि अभी बोरीवली की तरफ जो तीन मीटर चौड़ा एफओबी है, उसे तोड़कर उसके स्थान पर १० मीटर चौड़ा एफओबी बनाने की योजना है। इसके अलावा सौ दोपहिया वाहनों के लिए पार्किंग, जीआरपी ऑफिस, रिजर्वेशन सेंटर को ईस्ट की तरफ बाहर लेकर आ रहे हैं।